VIDEO: R.K.Hospital योजना मुफ्त की, बाजार से लेनी पड़ रही तीस फीसदी दवाएं!

Aswani Pratap Singh

Updated: 21 Jul 2019, 10:46:21 AM (IST)

Rajsamand, Rajsamand, Rajasthan, India

अश्वनी प्रतापसिंह @ राजसमंद. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा शुरू की गई निशुल्क दवा योजना जिम्मेदारों की अनदेखी से कोरा झुनझुना साबित हो रही है। निशुल्क दवा योजना के काउंटरों से मरीजों को ३० फीसदी साधारण दवाएं नहीं मिल रही हैं, जिसके लिए मरीज को बाजार में महंगे दाम देने पड़ रहे हैं। पत्रिका टीम ने शनिवार को राजकीय आरके जिला चिकित्सालय में पड़ताल की तो सामने आया कि ज्यादातर पर्चे में लिखी सभी दवाएं निशुल्क दवा काउंटर में उपलब्ध नहीं हैं। उदाहरण के तौर पर टीम ने 10 मरीजों के पर्चे जांचे, जिसमें किसी में पांच में से दो, छह में से दो, चार में से एक दवा पर टिक या गोला लगा था, जो मरीजों को बाहर से खरीदने के लिए कहा गया था।
पत्रिका टीम शनिवार सुबह 10.10 बजे राजकीय आरके जिला चिकित्सालय पहुंची। टीम ने यहां १० मरीजों के पर्चे देखे, जिसमें से ८ मरीज ऐसे थे जिन्हें दो-तीन दवाएं बाजार से खरीदने को कहा गया था। चार मरीजों के पर्चों में ६ दवाएं लिखी गईं थीं, इसमें से २-२ दवाएं बाजार से लेनी थी, जबकि दो मरीजों के पर्चों में पांच दवाएं लिखी थीं, इसमें से ३ निशुल्क दवा योजना के काउंटर से दे दी गई थीं और दो बाहर से लेने के लिए पर्चे में गोला मारा गया था। इसीतरह दो अन्य पर्चों में 4-4 दवाएं लिखी थीं, जिसमें से एक-एक दवा पर गोला लगा था यानि ये बाहर से खरीदनी थी।


साधारण दवाएं भी नहीं दे रहे
जानकारों ने बताया कि पर्चे में सिल्वर सल्फेट,
क्लोट्रीमाजोल, अमोक्सिलिन क्लेवूलेनिक एसिड ६२५ एमजी, डॉक्सीसाइक्लीन १०० एमजी, कफ सीरफ जैसी साधारण दवाएं हैं, जो निशुल्क दवा योजना में आसानी से मिलती हैं, अगर उस नाम की नहीं हैं तो उसके स्थान पर दूसरी उपलब्ध हैं। साथ ही दवा खरीदने के लिए चिकित्सा प्रशासन के पास आरएमआरएस का मद व अन्य बजट होता है, जिससे बाजार से खरीदकर मरीजों को निशुल्क दवाएं उपलब्ध करवाई जानी होती हैं, लेकिन यहां जिम्मेदार सीधे मरीजों को बाजार भेज रहे हैं।


दवाएं हैं...
जिला अस्पताल में 695 प्रकार की दवाओं की खपत है, इसमें से वहां 665 प्रकार की दवाएं उपलब्ध करवा रखी हैं। 30 प्रकार की दवाएं नहीं हैं, वह बाजार से खरीदने के लिए भी कह रखा है। मरीजों को सभी प्रकार की दवाएं क्यों नहीं दी जा रही है, यह मैं नहीं बता सकता।
-डॉ. अनिल जैन, प्रभारी, जिला औषिध भंडार, राजसमंद


जांच करेंगे...
वैसे अस्पताल में सभी तरह की दवाएं हैं, अब मरीजों को क्यों नहीं दी गई हैं, मैं पता करवाता हूं।
डॉ. नरेंद्र पालीवाल, पीएमएओ, राजकीय जिला चिकित्सालय, राजसमंद

rajasthan news, <a href=Rajasthan latest news , Rajsamand news , Rajsamand Hindi news , Rajsamand local news , rajsamand latest news , rajsamand latest hindi news , rajasthan local news ," src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/07/21/000_4866635-m.jpg">
Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned