8वीं कक्षा पास करने के लिए लगाना होगा पूरा जोर

- अब 8वीं में फेल होंगे विद्यार्थी
- 60 दिन में पूरक परीक्षा होगी
- राज्य सरकार ने जारी की अधिसूचना

By: Rakesh Gandhi

Published: 20 Sep 2020, 11:19 AM IST

आईडाणा/राजसमंद. केंद्र सरकार ने शिक्षा का अधिकार अधिनियम में संशोधन कर पांचवीं और आठवीं कक्षा में फेल करने या नहीं करने का निर्णय राज्यों पर छोड़ा था। राज्य सरकार की गुरुवार को पांचवी और आठवीं बोर्ड परीक्षा को लेकर जारी अधिसूचना के अनुसार 5वीं और 8वीं कक्षा में पूरक परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। फेल होने वाले छात्र दो माह बाद दोबारा परीक्षा दे सकेंगे। 5वीं कक्षा में फेल विद्यार्थी को छठीं में प्रवेश मिल सकेगा, लेकिन 8वीं में पूरक परीक्षा में असफल विद्यार्थी को फिर से 8वीं की पढ़ाई करनी होगी।
सरकार द्वारा पांचवी और आठवीं में विधिक रूप से परीक्षा आयोजित करने के लिए राजपत्र में संशोधन प्रकाशित किया है। अब इस सत्र से इन दोनों कक्षाओं की परीक्षा विधिक रूप से आयोजित की जाएगी। शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए सरकार ने यह निर्णय किया है। पहले बच्चे अपने अंकों पर ज्यादा ध्यान नहीं देते थे। उन्हें लगता था कि स्कूल से पासिंग अंक तो मिल जाएंगे, लेकिन अब उन्हें पास होने के लिए पढ़ाई करनी होगी। उलेखनीय है कि 2009 में शिक्षा का अधिकार कानून लागू होने के बाद पांचवीं आठवीं की परीक्षा को परीक्षा नहीं, बल्कि मूल्यांकन कहा जाने लगा था। प्रदेश में हर साल करीब 12 लाख विद्यार्थी आठवीं और करीब 14 लाख से अधिक विद्यार्थी पांचवीं की परीक्षा देते हैं।

अब तक आठवीं में फेल का प्रावधान नहीं था
शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत अब तक 8वीं कक्षा तक किसी को फेल नहीं करने का प्रावधान है। अब राज्य सरकार ने आरटीई एक्ट में संशोधन कर आठवीं कक्षा में मुख्य परीक्षा के बाद पूरक परीक्षा और इसमें असफल रहने पर फेल करने का प्रावधान किया है। 5वीं को लेकर केवल पूरक परीक्षा का प्रावधान जोड़ा गया है, लेकिन पूरक परीक्षा में असफल रहने पर भी सभी विद्यार्थी पास होंगे।

केंद्र ने राज्यों पर छोड़ा था निर्णय
केंद्र सरकार ने आरटीई एक्ट में संशोधन कर पांचवीं और आठवीं कक्षा में फेल करने या नहीं करने का निर्णय राज्यों पर छोड़ा था। राजस्थान में केवल आठवीं कक्षा में ही फेल करने का प्रावधान लागू किया है। पांचवी कक्षा में इसको लागू नहीं किया गया। इसके अनुसार अब इन दोनों कक्षाओं में मुख्य परीक्षा के बाद पूरक परीक्षा आयोजित होगी। पूरक परीक्षा में पांचवी के विद्यार्थियों को अनुत्तीर्ण नहीं किया जाएगा, लेकिन आठवीं की पूरक परीक्षा में असफल रहे विद्यार्थियों को पुन: इस कक्षा की पढ़ाई करनी होगी।

60 दिनों में पूरक परीक्षा
इस सत्र से इन दोनों कक्षाओं की परीक्षा विधिक रूप से आयोजित की जाएगी। पांचवी और आठवीं की मुख्य परीक्षा के 60 दिनों में पूरक परीक्षा आयोजित होगी। इस परीक्षा में कक्षा पांचवी के किसी विद्यार्थी को रोका नहीं जाएगा, लेकिन 8वीं में पूरक परीक्षा में असफल विद्यार्थियों को कक्षा आठवीं में ही पुन: अध्ययन करना होगा।

Rakesh Gandhi Editorial Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned