नाथद्वारा नगरपालिका में कांग्रेस 'पार्षदपति' व आयुक्त में ठनी

मामला बिगडऩे पर पुलिस भी पहुंची

By: jitendra paliwal

Published: 05 Mar 2021, 11:51 AM IST

नाथद्वारा. विधानसभा अध्यक्ष की गृहनगर पालिका में सत्ताधारी कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों व आयुक्त के बीच तनातनी का माहौल हो गया। पालिका कार्यालय में पुलिस भी पहुंच गई। आयुक्त ने पालिका की चार महिला पार्षदों के पतियों के खिलाफ पुलिस में प्रकरण दर्ज करा दिया।

पालिका सूत्रों के अनुसार नगरपालिका कार्यालय में पालिका के सत्तापक्ष के पार्षद एवं महिला पार्षद पति पहुंचे एवं अपने वार्ड में कार्यों को लेकर आयुक्त से मिलने की इच्छा जताई। इस दौरान आयुक्त कौशल कुमार के साथ पालिका के हॉल में वह बैठक करने लगे। इस दौरान पार्षदों ने कहा कि पिछले लंबे समय से उनके वार्ड में कार्य नहीं हो रहे हैं, जिससे जनता को जवाब देना भारी पड़ रहा है। इस दौरान पार्षदों को आयुक्त ने समस्याएं लिखकर देने को कहा। इस पर पार्षद पतियों ने बताया कि उन्होंने पूर्व में भी लिखकर दे रखा है। उसके बाद भी उनकी किसी भी कार्य पर प्रगति नहीं हो पाई है। उन्होंने नाराजगी जताई कि पार्षद अपने वार्ड में कार्य के लिए ही बार-बार लिखकर देगा तो आम जनता की सुनवाई कितनी हो रही होगी? उन्होंने कहा कि कितनी बार लिखकर देंगे। आयुक्त से कहा कि आप द्वारा बार-बार टेंडर हो रहा है, यह आश्वासन दिया जा रहा है। उन्होंने यह भी नाराजगी जताई कि अभी तक पूर्व पालिका पार्षदों के नाम के बोर्ड भी नहीं बदले गए। डेढ़ साल में भी कार्य नहीं हुए तो अब कब होंगे।

पुलिस बुलानी पड़ी
पार्षदपतियों के हंगामे के बाद पालिका में माहौल बिगड़ गया और पुलिस को बुलाना पड़ा। पुलिस उपाधीक्षक जितेन्द्र कुमार आंचलिया पुलिस जाब्ते के साथ पहुंचे। इधर, इस मामले में बात करने के लिए पत्रिका ने आयुक्त खटूमरा से संपर्क किया तो उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया। उनकी ओर से पुलिस में रिपोर्ट दी गई। हंगामे के दौरान अन्य पार्षद भी पालिका में मौजूद थे।

चार पार्षदपतियों के विरुद्ध रिपार्ट
पुलिस उपाधीक्षक जितेन्द्र आंचलिया ने बताया कि आयुक्त ने चार पार्षदपतियों मोहन जोशी, हेमंत गुर्जर, पीयूष लावटी के अलावा दीपक गुर्जर व यशप्रताप सिंह के खिलाफ भी रिपोर्ट दी। रिपोर्ट में आरोप लगाया कि चारों पार्षदपतियों ने पालिकाध्यक्ष मनीष राठी की उपस्थिति में बदतमीजी की। पुलिस ने परिवाद दर्ज कर जांच प्रारंभ की है। आंचलिया ने बताया कि मोहनकृष्ण व हेमंत को पूछताछ के लिए लाया गया। पालिका में लगे सीसीटीवी कैमरों से फुटेज लेकर पूरे मामले का अनुसंधान किया जाएगा।

ये हैं महिला पार्षद
जिन महिला पार्षदों के वार्ड की समस्या पर यह बखेड़ा हुआ, उनमें वार्ड संख्या चार से पार्षद रितिका गुर्जर, वार्ड १० से शीला गुर्जर, वार्ड ३५ से उज्जवला लावटी व वार्ड ४० से कंचन जोशी शामिल हैं।
&वहां कोई घटनाक्रम कुछ नहीं हुआ। मैं तो नियमित तौर पर जाता हूं, इसलिए गया था।
मोहन जोशी, पार्षदपति

jitendra paliwal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned