प्रशासन ने जगाया, मास्क भी बांटे, अब बारी आपकी

पूरा एक महीने के लिए मास्क लगाकर रखें राजसमंद तो कोरोना को दे सकते हैं मात, बाहर से टूरिस्ट भी आ रहे कम तो कोरोना पर जीत में नहीं होगी मुश्किल

By: jitendra paliwal

Published: 18 Oct 2020, 11:07 PM IST

राजसमंद. जिले में कोरोना लगातार पांव पसारता रहा है। इस बीच कई संगठनों ने अपनी जिम्मेदारियां निभाईं। किसी को भोजन दिया, तो किसी को मास्क बांटा। जिला प्रशासन, नगर परिषद और कई सरकारी विभागों ने भी बड़े पैमाने पर अभियान चलाकर लोगों को कोरोना से बचाव के तरीके बताए, जागरूक किया और मास्क भी बांटे। अब नगर परिषद हर घर के बाहर नो मास्क-नो एन्ट्री के स्टीकर भी चिपका रहा है, लेकिन इतने से काम नहीं चलेगा। अब बारी आपकी है। मास्क भी लगाना है और दो गज दूरी भी रखनी है।
कोरोनाकाल में सबने देखा है कि जब-जब नियमों का पालन सोसायटी ने किया, कोरोना को हराने में कामयाबी मिली है। जिस देश चीन से कोरोना की शुरुआत हुई, वहां अब यह छुपा हुआ दुश्मन गायब भी हो चुका है। लोगों ने कोविड-19 की सरकारी गाइडलाइन को सख्ती से फॉलो किया तो आज वहां जश्न का माहौल है। चीन पूरा अनलॉक हो चुका है, ट्रेनों में भीड़ है, रेस्त्रां में लोग परिवार के साथ खाना खा रहे हैं, धार्मिकस्थलों पर कतारें लगी हैं, सार्वजनिक स्थलों पर न कोई डर है, न हिचक। खैर, बात हम हमारे शहर की करें तो 'दो गज की दूरी, मास्क है जरूरीÓ का मूल मंत्र अब गम्भीरता से आचरण में भी कंठस्थ करना ही होगा।
जानकारों का मानना है कि अगर पूरे एक माह शहर, गांव व जिलेभर में लोग मास्क पहनने और दूरी बनाए रखने के नियम की पालना कर ले तो कोरोना को मात दी जा सकती है। अभी हालातों के मद्देनजर यहां धार्मिकस्थलों पर बाहर से आने वालों की भीड़ कम है, वहीं पर्यटनस्थलों पर भी खास चहल-पहल नहीं है। ऐसे में कोरोना के प्रसार को सीमित और नियंत्रित करने का अच्छा अवसर है।

त्योहारों पर आएगी चुनौती
चूंकि अब नवरात्र महोत्सव शुरू हो चुका है और आगामी कुछ दिनों में साल का सबसे बड़ा त्योहार दिवाली भी आएगा, ऐसे में बाजारों में चहलकदमी बढऩा सम्भावित है। इस अवसरों पर खासतौर से सोशल डिस्टेंसिंग, सैनेटाइजिंग, हैण्डवॉशिंग, मास्क वियरिंग जैसी अनिवार्यताओं को अपनाए रखना होगा।

नगर परिषद ने युद्ध स्तर पर बांटे मास्क, लगाए स्टीकर
शहर में 3 अक्टूबर से नगर परिषद की ओर से युद्धस्तर पर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। गायत्री शक्तिपीठ की ओर से योगाभ्यास हुआ, वहीं आयुर्वेदिक, हौम्योपैथिक विभाग की ओर से काढ़ा वितरण, महिला एवं बाल विकास ने रंगोली प्रतियोगिता हो चुकी है, वहीं कोरोना रूपी रावण का दहन बस स्टैण्ड कांकरोली व फव्वारा चौक राजनगर पर हुआ।

--- परिषद के वॉरियर्स ऐसे हराने निकले हैं कोरोना को---
12 टीमें लगी हुई हैं नगर परिषद की पूरे शहर में
4 लोग हैं एक टीम में, जिनमें स्काउट, महिला बाल विकास विभाग, शिक्षक, नगर परिषद कर्मचारी शामिल
30 सफाई कर्मचारी हर वार्ड से, एक जमादार लगे हुए हैं
2 वाहनों से जागरूकता संदेशों की उद्घोषणा लगातार हो रही है
12 वाहन डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण के भी फैला रहे जागरूकता
01 ऑटो नगर में घूमकर संदेश प्रसारण कर रहा है
18 बड़े होर्डिंग्स लगाए गए हैं शहर में विभिन्न जगहों पर
3000 बड़े पोस्टर लगाए हैं अलग-अलग स्थानों पर
26 हजार स्टीकर घरों के बाहर नो मास्क-नो एन्ट्री के लगाए हैं
50 हजार स्टीकर लगाने का लक्ष्य है
20 हजार रियूजेबल मास्क खुद परिषद ने बांटे
25 हजार मास्क सीएसआर से परिषद को मिले हैं अब तक
-----
शहर में परिषद युद्धस्तर पर जागरूकता कार्यक्रम चला रही है। लोगों से भी अपेक्षा की जाती है कि मास्क लगाएं, नियमित साबुन से धोएं, लोगों से निश्चित दूरी बनाए रखें, तभी हम कोरोना को हरा सकेंगे। त्योहारों पर आमजन से खास उम्मीद और अपील है।
जनार्दन शर्मा, आयुक्त, नगर परिषद

jitendra paliwal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned