जिद्दी है गुजरात का कोरोना वायरस!

मुंबई के मुकाबले गुजरात के मरीज नेगेटिव होने में ज्यादा ले रहे समय
जिले में अबतक आए मरीजों की स्टडी में आया सामने

By: Aswani

Published: 16 May 2020, 08:56 AM IST

अश्वनी प्रतापसिंह

राजसमंद. जिले में अबतक कोरोना के जो मामले सामने आए हैं, उनमें दो मरीजों को छोड़कर सभी का सीधा सम्पर्क महाराष्ट्र और गुजरात से है। ऐसे में यहां भर्ती मरीजों की स्टडी करें तो सामने आता है कि मुंबई के मुकाबले गुजरात के मरीज नेगेटिव होने में ज्यादा समय ले रहे हैं। यही कारण है कि अभीतक गुजरात से सामने आए ६ मामलों में एक भी नेगेटिव नहीं हुआ है, जबकि महाराष्ट्र से आए अधिकतर मरीज ५ से ६ दिन में ही पॉजिटिव से नेगेटिव हो रहे हैं। हालांकि चिकित्सक इसमें स्पष्ट रूप से कुछ भी नहीं कह रहे।


यहां से इतने मरीज
राजसमंद जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या ३३ पहुंच गई है। रोजाना तीन-चार मरीज सामने आ रहे हैं। ३३ में से सर्वाधिक २५ मरीज मुंबई से आए हैं। जबकि ६ मरीज गुजरात के हैं। वहीं दो स्थानीय युवक संक्रमण की चपेट में आए थे, जिनके संक्रमित होने का सही कारण पता नहीं चल सका है। जबकि एक औरंगाबाद का किशोर है।


15 दिन में गुजरात का एक भी मरीज नेगेटिव नहीं
जिले में कोरोना पॉजिटिव मिलने का सिलसिला २५ अप्रेल से शुरू हुआ था। सबसे पहले जो व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव आया, वह मुंबई से था। इसके बाद ५ मई को अहमदाबाद से कोरोना के मरीज आने शुरू हुए। अहमदाबाद से आया पहला मरीज शहर के सिद्धार्थ नगर की १८ वर्षीय युवती के रूप में सामने आया, उसके पॉजिटिव आने के बाद साथ में आई युवती की मां, बहन भी पॉजिटिव आ गर्इं। ५ मई से १५ मई तक तीन में से एक भी सदस्य कोरोना निगेटिव नहीं हुआ है। इसीतरह ८ मई को कुंभलगढ़ क्षेत्र के गवार की प्रसूता भी अहमदाबाद के सूरत से आई थी, वह भी अभीतक उपचाररत है और अभी तक पॉजिटिव से नेगेटिव होने की रिपोर्ट नहीं आई। जबकि ८ मई को ही उसके साथ अस्पताल में भर्ती हुए ५ अन्य मरीजों में से चार की एक-एक रिपोर्ट कोरोना निगेटिव आ चुकी है। इसमें कांकरोली का होम डिलेवरी करने वाला युवक, औरंगाबाद से आया युवक व इसीतरह आमेट और छापली से आए युवक कोरोना पॉजिटिव से निगेटिव हो चुके हैं। लेकिन ५ मई से १५ मई तक गुजरात का एक भी मरीज कोरोना को मात नहीं दे पाया है।


कहना मुश्किल है...
ये कहना मुश्किल है, क्योंकि भारत में जो वायरस अभीतक देखने को मिल रहा है वो सभी एक जैसा ही है। अपने यहां अन्य देशों से स्थिति अलग है, यहां मृत्युदर भी कम है। हां ये जरूर हो सकता है कि जो मुंबई से आ रहे हैं वे काफी पहले से संक्रमित रहे हों, और यहां आने के बाद ठीक हो गए हों, इसलिए पांच छह दिन में पॉजिटिव से नेगेटिव हो गए हैं। हां पर यह सही है कि अभीतक गुजरात से राजसमंद आया कोई भी व्यक्ति पॉजिटिव से नेगेटिव नहीं हुआ है।
-डॉ. एचसी सोनी, वरिष्ठ चिकित्सक, राजकीय आरके जिला चिकित्सालय, राजसमंद

Aswani Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned