आध्यात्मिक देश भारत से जल्द खत्म होगा कोरोना

- हम भारतीयों की इम्यूनिटी दूसरों से बेहतर
- अमरीका में रह रहे प्रज्ञा व अनिल खटवड़ से बातचीत

By: Rakesh Gandhi

Published: 23 Apr 2020, 01:30 PM IST

राकेश गांधी

राजसमंद. अमरीका में रह रही राजसमंद की प्रज्ञा व अनिल खटवड़ का कहना है कि भारत दूसरे देशों से ज्यादा सुरक्षित है। यहां के लोगों की इम्यूनिटी अन्य देशों के लोगों से काफी बेहतर होती है। राजस्थान पत्रिका से बातचीत में उन्होंने कहा कि भारत से जल्द ये वायरस खत्म होगा।
प्रज्ञा कहती है, 'देश के ग्रीन जोन वाले जिलों में राजसमंद का नाम देखकर मन को सुकून भी मिलता है। वैसे एक बात बता दूं, भारत की चर्चा यहां के लोग अक्सर करते हैं। भारत की बड़ी खासियत है यहां के लोगों का आध्यात्मिक होना। यही नहीं, यहां के लोगों की इम्यूनिटी भी अन्य देशों के लोगों की अपेक्षा ज्यादा है। ऐसे में यहां हर मुश्किल आसान हो जाती है। एक विशेष बात हम जो अमरीका में बैठकर सोचते हैं, वो है भारत के प्रधानमंत्री द्वारा समय पर उठाए गए ऐसे कदम, जिससे भारत में कोरोना आसानी से पैर नहीं जमा पाया। यही वजह है कि भारत को आज भी दूसरे देश सबसे सुरक्षित मान रहे हैं। हालांकि पिछले कुछ दिनों से कुछ राज्यों में ये ज्यादा फैलने की खबर आ रही है, पर पता नहीं क्यों हमें यहां लगता है कि भारत इस समस्या से निपट लेगा। ऐसे कदम यदि अमरीका व यूरोप समेत अन्य विकसित देशों ने उठाए होते, तो वे ज्यादा सुरक्षित होते।'
अपने पति मावली निवासी अनिल खटवड़, पुत्री इशिता व पुत्र आर्यन के साथ अमरीका के टेक्सास डलास प्रांत में रह रही प्रज्ञा कहती है, 'भारत के लोगों को लॉकडाउन का सख्ती से पालना करना ही चाहिए। ये वायरस बिल्कुल नया है और हमें इसकी ताकत का सही से अंदाजा भी नहीं है। अमरीका जैसे विकसित देश तक इसे समझ नहीं पाए।'
अनिल कहते हैं, 'बिल्कुल प्रज्ञा की तरह मुझे भी लगता है भारत के लोग बहुत आध्यात्मिक है। मैं अपने परिवार के साथ यहां पिछले एक दशक से ज्यादा समय से रह रहा हूं, पर भारत के बारे में पढ़े-जाने बिना दिन पूरा नहीं होता। इन दिनों जहां पूरे विश्व में खौफ का माहौल है, भारत में लोग काफी आत्मविश्वास से लबरेज दिखाई देते हैं। अमरीका में पिछले करीब डेढ़ माह से ज्यादा हो गया है, वर्क फ्रोम होम चल रहा है।'
प्रज्ञा ने बताया कि टेक्सास में 20 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले हैं और हम जहां रह हैं वहां 2 हजार मामले हैं। मौतें भी काफी हुई हैं। बच्चों के स्कूल व कॉलेज सभी काफी समय से ऑनलाइन चल रहे हैं। स्कूलों ने तो यहां तय कर लिया है कि इस बार पूरा सत्र ऑनलाइन ही रहेगा। उन्होंने कहा, 'हम भारतीयों को अपनी आध्यात्मिक सोच के बूते अब कुछ नया सोचना चाहिए। हमें सुप्रीम पावर बनने की तरफ बढऩा चाहिए। भारत ये कर सकता है। हमें अपनी ताकत को समझना होगा। मैं तो दुआ करती हूं कि द्वारकाधीश व श्रीनाथ जी की नगरी से ये वायरस जल्द खत्म हो और हमारे लोग फिर से अपने काम पर लग जाए।'

Rakesh Gandhi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned