डंडे के डर से बाजार में कायम हुआ 'जन अनुशासन'

ऐसे तो कैसे टूटेगी संक्रमण की चेन : राजसमंद शहर में परिषद के दल ने बंद करवाई दुकानें, काटने पड़े चालान

 

By: jitendra paliwal

Published: 20 Apr 2021, 11:28 AM IST

राजसमंद. हर जगह लोग दिख रहे बिना अनुशासन के, पुलिस और प्रशासन ने गश्त लगा की खानापूर्ति
को रोना के सर्वाधिक चपेट में आए जिलों में शुमार राजसमंद में राज्य सरकार की ओर से लागू 'जन अनुशासनÓ पखवाड़े के पहले दिन सोमवार को दुकानदार, लोग अनुशासित नहीं दिखे। राजसमंद शहर सहित, गांव-कस्बों में सुबह अधिकांश दुकानें खुल गईं। दोपहर तक पुलिस और प्रशासन भी सुस्त रहा, लेकिन भीड़-भाड़ बढऩे पर एक बजे बाद जिम्मेदार दुकानें बंद करवाने पहुंचे। डंडे का रौब दिखाने पर ही बाजार बंद हुए।

शहर में सुबह हर तीसरी दुकान बाजार में खुली नजर आई। गाइडलाइन में केवल दूध, सब्जी, किराणा, दवा स्टोर सहित कुछ अन्य प्रतिष्ठानों को ही छूट थी, लेकिन बड़ी तादाद में और भी दुकानें खोलकर दुकानदार बैठ गए। दोपहर तक कोई सख्ती नहीं थी। बाजारों में सामान्य दिनों के जैसी हलचल बनी हुई थी। लोग वाहनों पर आ जा रहे थे, वहीं पैदल चलकर आए लोग भी खरीदारी कर रहे थे। इस बीच आयुक्त जनार्दन शर्मा के निर्देश पर इंस्पेक्टर गिरिराज गर्ग परिषद का दल लेकर पहुंचे तथा गाइडलाइन के विरुद्ध खुली दुकानों को बंद करवाया। इस दौरान करीब 10 दुकानों के चालान काटे व प्रति दुकान 500 रुपए का जुर्माना भी वसूला। आयुक्त शर्मा ने चेताया कि नियमों की पालना नहीं करने पर अब तत्काल दुकानें 72 घंटे के लिए सीज की जाएंगी।

पुलिस पहुंची और बन्द हुईं दुकानें
देवगढ़. नगर में किराणा दुकानों के साथ अधिकांश दुकानें प्रात: खुल गई। ऐसा लगा कि जैसे पूरा बाजार ही खुल गया। दुकानें खुलने की प्रशासन को जैसे ही भनक लगी, पुलिस एवं प्रशासनिक अमला तुरंत बाजार पहुंचा और दुकानों को बन्द करवाया। पुलिस को देखते ही लोग फटाफट दुकानें बन्द करने लगे। कई दुकानदार तो अपने-अपने घर चले गए, लेकिन कई व्यापारी दुकानें बन्द बाहर ही बैठ गए। इससे पहले लोग बिना अनुशासन के दिखाई दिए। किराणे की दुकानों पर भी भीड़ दिखाई दी, जहां सोशल डिस्टेंसिंग पर ध्यान नहीं दिया जा रहा।

सीएचसी पर टेस्ट कराने वालों की भीड़
देवगढ़ सीएचसी पर भी कोविड टेस्ट के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की बजाय भीड़ लग रही है। पुलिस एवं प्रशासन गश्त लगाकर महज खानापूर्ति कर रहा है।

सख्ती दिखाने पर गायब हुई भीड़
रेलमगरा. लॉकडाउन में अकारण इधर-उधर दौडऩे वाले लोगों के विरुद्ध पुलिस ने सख्ती बरतना शुरू कर दिया, जिससे सड़कों पर वीरानी सी दिखने लगी है। उपखण्ड मुख्यालय पर सोमवार को सुबह दुकानें खुली, लेकिन बाद में थाना अधिकारी भरतनाथ योगी के नेतृत्व में पुलिसकर्मियों ने बस स्टैण्ड, सदर बाजार में भ्रमण करते हुए शांतिपूर्ण ढंग से प्रतिष्ठान बंद कराते हुए लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी। हालांकि बंद के दौरान किराणा, दूध, सब्जियों एवं दवाओं की दुकानें खुली रही, वहीं निजी यात्री बसों का संचालन पूरी तरह से बंद रहने से सड़कों पर भी वाहनों की आवाजाही बेहद कम नजर आई। उपखण्ड के दरीबा, गिलूण्ड आदि गांवों के भी अधिकांश बाजार बंद रहे। लोग घरों में दुबके रहे।

केलवा में 51 चालान बनाए
केलवा. कस्बे में गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर पुलिस ने 51 चालान काटे। थानाधिकारी लालसिंह शक्तावत ने बताया कि नियम तोडऩे पर 72 घंटे के लिए दुकानें सीज की जाएंगी। पुलिस ने पैदल गश्त कर बिना मास्क पहने घूम रहे एवं सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ा रहे लोगों के चालान बनाए। थाना अधिकारी ने उन्हें समझाया कि जीवन रहेगा दुकानें बाद में भी खोली जा सकेंगी।

तम्बाकू उत्पादों के दामों में उछाल
कुंवारिया. कस्बे में सोमवार सुबह कुछ देर बाजार खुले, लेकिन पुलिस व प्रशासन की सक्रियता को देख दुकानों के शटर डाउन करने पड़े। इसके बाद बाजारों तथा गलियों में सन्नाटा पसर गया। तीन दिन पूर्व लगाए वीकेंड कफ्र्यू व उसके बाद महामारी की रोकथाम के लिए सख्त लाकडाउन लगाने की आशंका के मद्देनजर पान-मसाला, गुटखा, खैनी, तम्बाकू, बीड़ी, सिगरेट के होलसेल एवं रिटेलर विक्रेताओं ने निर्धारित मूल्य से 20 प्रतिशत तक अधिक पैसा वसूला। कई रिटेलर व्यापारियों से आम ग्राहक बहस करते हुए भी दिखाई दिए, लेकिन दुकानदारों ने कहा कि होलसेल विक्रेता भाव बढ़ा रहे हैं, ऐसे में उन्हें भी बढ़ाना पड़ा है। इधर, कपड़ा, रेडिमेड, इलेक्ट्रॉनिक्स, बर्तन, श्रंृगार प्रसाधन सहित अन्य दुकानें व प्रतिष्ठान पूरी तरह बंद रहे। कुंवारिया का बाजार कपड़े के व्यापार के लिए जाना जाता है। ऐसे में बाजारों में पूरी तरह सन्नाटा पसरा रहा। पुलिस व होमगार्ड के जवान लगातार गश्त कर रहे हैं।

किराणा की आड़ में दूसरा माल बेच रहे
देवगढ़. किराणा की दुकान की आड़ में चोरी-छिपे दूसरे दुकानदार आधे शटर खोलकर गैरजरूरी माल बेच बेचने में लगे रहे। उनमें किसी बात का ख़ौफ़ नहीं दिखाई दे रहा था।

कपड़ा और दूसरे व्यापारियों ने की छूट मांग
राजसमंद. वस्त्र व्यापार सेवा संस्थान, कांकरोली ने जिला कलक्टर, एडीएम व नगर परिषद आयुक्त जनार्दन शर्मा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर कोरोना गाइडलाइन में कपड़ा व्यापार सहित अन्य व्यापार को शादी के सीजन देखते हुए आंशिक छूट दिलाने की मांग की। अध्यक्ष दीपक जैन सोनी व महामंत्री भैरूलाल हिंगड़, उपाध्यक्ष अशोक पामेचा ने कहा कि विवाह में दूल्ह-दुल्हन सहित परिजनों के लिए जरूरी कपड़ों की उन्हें परेशानी न आए। अधिकारियों ने सहमति जताते हुए आगे विचार-विमर्श करने को कहा। इस अवसर पर हरीश कुमावत, शंभू कुमावत सहित अन्य प्रतिनिधि उपस्थित थे।

jitendra paliwal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned