BREAKING : करंट से विद्युत लाइन पर लटके बंदर का शिकार करने चढ़े पैंथर की मौत

BREAKING : करंट से विद्युत लाइन पर लटके बंदर का शिकार करने चढ़े पैंथर की मौत

Laxman Singh Rathore | Publish: Feb, 15 2018 11:10:30 AM (IST) Rajsamand, Rajasthan, India

राजसमंद जिले के बावड़ी छोटा भाणुजा की घटना

खमनोर. पंचायत समिति खमनोर के अन्तर्गत बावड़ी छोटा भाणुजा में मंगलवार को एक मादा पैंथर की विद्युत लाइन के करंट से मौत हो गई, जिसका बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद हल्दीघाटी में अंतिम संस्कार किया गया। गांव बावड़ी छोटा भाणुजा में कुछ दिनों पूर्व एक बंदर की विद्युत पोल पर करंट लगने से मौत हो गई, जिसका शव पोल पर ही लटका होने से उसकी दुर्गंध के चलते तीन वर्षीय मादा पैंथर बंदर को अपना शिकार बनाने के लिए जैसे ही पोल के पास गई तो विद्युत लाइन के करंट की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। सूचना पर वन विभाग के कर्मचारी मौकेपर पहुंचे। उन्होंने शव को कब्जे लिया और हल्दीघाटी स्थित वन पौधशाला पहुंचे, जहां पर बुधवार दोपहर को मेडिकल बोर्ड टीम ने पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. कुलदीप कौशिक के सानिध्य में पोस्टमार्टम किया। इसके बाद वन विभाग के कर्मचारियों ने शव का अंतिम संस्कार किया। इस दौरान कार्यवाहक क्षेत्रीय वन अधिकारी उदल आचार्य, सहायक वनपाल लोकेन्द्रसिंह चुंडावत सहित वनकर्मी उपस्थित थे।

खमनोर में ग्राम पंचायत ने हटाए केबिन
खमनोर. कस्बे के मुख्य बस स्टैंड स्थित प्रताप चौराहा पर चारों ओर लगे केबिनों को बुधवार को ग्राम पंचायत ने बुधवार को कार्रवाई करते हुए हटवा दिए। इसके अलावा बस स्टैंड पर दुकानदारों द्वारा किए गए अतिक्रमण सहित कस्बे में विभिन्न स्थानों से भी अतिक्रमण को हटवाया गया। केबिनों एवं अन्य अतिक्रमण को हटाने के बाद बस स्टैंड पूरी तरह से खुला हो गया। वहीं, पंचायत की ओर से हटाए गए केबिन वालों को पंचायत द्वारा कियोस्क आवंटित किए जाएंगे। इसके लिए पंचायत यात्री प्रतिक्षालय को तोडक़र वहां पर कियोस्क का निर्माण करवाएगी। किन्तु, ग्राम पंचायत की कार्ययोजना को लेकर विस्तारित रूप से योजना केबिन वालों के समक्ष नहीं रखने के कारण इसको लेकर दिनभर केबिन वाले छोटे व्यापारियों एवं ग्रामीणों में असमंजस की स्थिति बनी रही कि आवंटन किस प्रकार से होगा एवं उसकी पात्रता व प्रक्रिया क्या होगी। पंचायत की ओर से कस्बे में विभिन्न स्थानों पर अतिक्रमण को लेकर आम सूचना जाहिर करते हुए 14 फरवरी को अतिक्रमण हटाने का नोटिस दिया गया था। इस सूचना के बाद ग्राम पंचायत भवन में गांव के प्रमुख लोगों व केबिन वालों के साथ ग्राम पंचायत की बैठक कर कियोस्क निर्माण पर चर्चा की गई एवं अतिक्रमण हटाने में सहयोग का आह्वान किया गया। इसके बाद आज सुबह करीब 9 बजे सरपंच ममता वीरवाल, उप सरपंच प्रकाश पालीवाल, सचिव जितेंद्र तिवारी जेसीबी एवं के्रन मशीन के साथ बस स्टैंड पहुंचे और केबिन वालों के सहयोग से बस स्टैंड से अतिक्रमण हटाया गया। इसके बाद गायरियों की भागल, विद्युत निगम कार्यालय के बाहर से केबिन एवं अतिक्रमण हटाया गया। कार्यवाही के दौरान बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित रहे, किन्तु माहौल शांतिपूर्ण रहा। इस दौरान पुलिस जाब्ता भी मौजूद रहा। इस दौरान सरपंच वीरवाल ने बताया कि कियोस्क का निर्माण जल्द करवाने के प्रयास का आश्वासन दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned