video: अस्पताल में मरीज, होटल में वन्यजीवों की कर रहे सेवा

कोरोना महामारी में नाथद्वारा अस्पताल के चिकित्सक बन रहे मिशाल

By: Aswani

Published: 10 May 2020, 09:01 AM IST

राजसमंद. नाथद्वारा सामान्य चिकित्सालय के चिकित्सक इन दिनों घरों से दूर रहकर अस्पताल में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। यहां भी वे देखभाल की दोहरी जिम्मेदारी का निर्वाहन कर रहे हैं, जो प्रेरणादेय है। दरअसल कोरोना संक्रमण चिकित्सकों के घरों तक नहीं पहुंचे इसलिए इन्हें नाथद्वारा के एक निजी होटल में रुकाया गया है। इस होटल में एक मादा खरगोश थी, जिसने तीन दिन पूर्व सात बच्चों को जन्म दिया था, लेकिन जन्म देने वाली रात्रि को ही उस मादा खरगोश का शिकार हो गया। हालांकि यह पता नहीं चला है कि उसे किस जीव ने मारा है। लेकिन बच्चे बिना मां के हो गए। ऐसे में होटल में रुके इन चिकित्सकों ने उन्हें पालने की जिम्मेदारी ली है। दिन में तीन से चार बार बारी-बारी से ये उन्हें सिरेंज में भरकर दूध पिलाते हैं तथा पशुचिकित्सकों से सलाह लेकर उन्हें मल्टीमिटामिन की खुराक भी दे रहे हैं, जिससे छह बच्चे स्वस्थ्य हो गए हैं, जबकि एक बच्चा मां के मरने के बाद ही मर गया था। चिकित्सकों का कहना है कि इनका हम परिवार के सदस्यों की तरह ही पालन-पोषण कर रहे हैं।

Aswani Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned