कोरोना से हुई मौत पर अंतिम संस्कार कर सकेंगे परिजन

- नियमों, शर्तों सहित मिली इजाजत
- अभी निकायों के पास थी अंतिम संस्कार की जिम्मेदारी

By: Rakesh Gandhi

Published: 10 Sep 2020, 07:33 AM IST

राजसमंद. अब कोविड-19 से हुई मौत पर परिजन नियमों और शर्तों की पालना करते हुए शव का अंतिम संस्कार अपनी रीति के अनुसार कर सकेंगे। राज्य सरकार ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं। अभी तक कोरोना से हुई मौत पर अंतिम संस्कार नगर निकाय और उपखंड प्रशासन के कार्मिक करते थे। दरअसल अभी तक कोरोना संक्रमण से अपनों को खो चुके परिवारों को अंतिम संस्कार की अनुमति नहीं थी। लेकिन अब सरकार ने अंतिम संस्कार की प्रक्रिया में बदलाव किया है। इससे अब कोरोना से मौत के बाद नियम और शर्तों का पालन करते हुए परिजन अंत्येष्टि कर सकेंगे और अधिकतम २० लोग शव यात्रा में भी शामिल हो सकेंगे।

अब तक दूर से देते थे विदाई
कोरोना ने पूजा-पाठ व रीति रिवाज में काफी बदलाव ला दिया है। बड़ा बदलाव कोविड पॉजिटिव की मौत में दिखा। अब तक मृतक के रिश्तेदार को सरकारी गाइड लाइन के अनुसार शव कागजों में हैंडओवर करने के बाद अंतिम संस्कार संबंधी सभी काम सरकार कर्मचारी करते थे। परिजन केवल दूर से हाथ जोड़ नम आंखों से अपनों को अंतिम विदाई देते थे। उन्हें शव के आसपास भी नहीं जाने दिया जाता था।

इन निर्देशों की करनी होगी पालना
- मृतक के बॉडी बैग को नहीं खोला जाएगा एवं मतृक देह को स्नान नहीं करवाया जाएगा।
- मृतक शरीर को छूने की अनुमति नहीं होगी।
- मृतक के रिश्तेदार, परिजन मृतक देह के अंतिम दर्शन सुरक्षित दूरी से कर सकेंगे।
- ऐसे धार्मिक रीति-रिवाज जिसमें मृतक देह को छूने की आवश्यकता नहीं हो, जैसे धार्मिक गं्रथ का पठन, पवित्र जल छिड़का जाना आदि की अनुमति रहेगी।
- अंतिम संस्कार में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम सीमा २० होगी।
- मृतक का अंतिम संस्कार करने वाले व्यक्ति को पीपीई किट, दस्ताने, मास्क आदि का उपयोग करना होगा। अंतिम संस्कार करने वाले व्यक्ति को पीपीई किट संबंधित अस्पताल प्रशासन द्वारा उपलब्ध करवाया जाएगा।
- मृतक की देह को एक जिले से दूसरे जिले में ले जाने के लिए जिला प्रशासन से अनुमति की आवश्यकता नहीं होगी। हालांकि प्रशासन को इसकी सूचना दिया जाना आवश्यक है।
- मृतक का अंतिम संस्कार शहरी क्षेत्रों में नगर निकाय और ग्रामीण क्षेत्रों में संबधित उपखंड अधिकारी के प्रतिनिधि की उपस्थिति में किया जाना आवश्यक है।
- मृतक का शव ले जाने के लिए निजी साधनों का प्रयोग नहीं किया जा सकता। एम्बुलेंस या शव वाहनों से ही शव का अस्पताल से श्मशान तक परिवहन किया जाएगा।
- होम आइसोलेशन में हुई मौत पर परिजनों को प्रशासन और चिकित्सा प्रशासन को सूचना देनी होगी, इसके बाद ही अंतिम संस्कार नियमानुसार किया जा सकेगा।

आदेश आए हैं...
कोविड-१९ से हुई मौत के बाद अब परिजनों को नियम और शर्तों के साथ अंतिम संस्कार की अनुमति सरकार द्वारा दे दी गई है। वे नियमों का पालन कर अपनी रीति अनुसार अंतिम संस्कार कर सकेंगे।
- डॉ. जेपी बुनकर, सीएमएचओ, राजसमंद

Rakesh Gandhi Editorial Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned