गेहूं, चना, जौ पर रहा धरती पुत्रों का रुझान

गेहूं 300, चना 200, जौ की 30 हेक्टयर अधिक हुई बुवाई

By: Aswani

Published: 18 Feb 2020, 08:39 PM IST

राजसमंद. जलाशयों में पर्याप्त पानी होने से रबी फसल में गेहूं, चना, जौ का रकबा लक्ष्य से १ फीसदी बढ़ गया। किसानों ने सबसे ज्यादा रुझान गेहूं में दिखाया है। जिसके चलते लक्ष्य से ३०० हेक्टयर ज्यादा की बुवाई की है वहीं चना २०० तथा जौ ३० हेक्टयर अधिक में बोया गया है। अधिकतर किसानों ने खेतों को दूसरा पानी पिला दिया है और फसल भी औसत से अच्छी है। गौरतलब है कि इसबार झील सहित अन्य जलाशयों में पर्याप्त पानी होने से किसान समय से खेती का काम पूरा करने में जुटे हैं। हालांकि आंकड़े गत वर्ष के मुकाबले कुछ कम हैं। गतवर्ष किसानों ने ४७९५० हेक्टयर में फसल बोई थी, जबकि इसबार ४४७०० हेक्टयर में बुवाई हुई है।


दलहन, तिलहन पर नहीं ली रूचि
राजसमंद सहित नाथद्वारा, लावासरदारगढ़, देवगढ़, भीम, रेलमगरा आदि क्षेत्रों के जलाशयों में पर्याप्त पानी होने से किसानों को रेलणी और पाण का पानी पर्याप्त मात्रा में मिला है, जिसके चलते किसानों का रुझान खेती के प्रति ज्यादा रहा है। किसानों ने जहां गेहूं, जौ, चना की बुवाई में रूचि दिखाई है वहीं तारामीरा, तिलहन, सरसों आदि में रूचि नहीं ली, जिससे इनकी बुवाई तुलनात्मक कम हुई है। रबी फसल के लिए किसानों को पर्याप्त पानी मिल रहा है।


अन्य फसलों पर घटा रूझान
रबी की मुख्य फसल गेहूं, जौ, चना को छोड़कर सरसो, मटर, रिजका, मसूर, आलू, तारामारी आदि फसलों से किसानों का रुझान बिल्कुल खत्म सा हो रहा है। यहां तक तारामीरा और सरसो फसला का रकबा भी दिनों दिन कम हो रहा है।

Aswani Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned