पड़ासली प्रधानाचार्य ने दिव्यांग लिपिक को पीटा : डर-दशहत से नहीं जा रहा स्कूल, थाने में रिपोर्ट

- राजसमंद जिले के पड़ासली स्कूल का मामला

By: laxman singh

Published: 22 Aug 2017, 12:27 PM IST

केलवा. क्षेत्र के पड़ासली गांव स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य के खिलाफ सहायक कर्मचारी लिपिक के साथ मारपीट की रिपोर्ट केलवा पुलिस थाने में दर्ज हुई। लिपिक की पत्नी का आरोप है कि प्रधानाचार्य आए दिन गाली गलोच कर मारपीट करता है, जिसके डर की वजह से सात दिन से छुट्टी पर है। इधर, केलवा थाना पुलिस ने रिपोर्ट लेने के साथ तहकीकात शुरू कर दी है।


पुलिस के अनुसार कनावदा निवासी रतनसिंह राठौड़ ने राउमावि पड़ासली के प्रधानाचार्य नगेन्द्र मेहता के खिलाफ 12 अगस्त को केलवा थाने में रिपोर्ट दी। बताया कि प्रधानाचार्य मेहता आए दिन गाली गलोच करते हुए ही उससे बातचीत करता है और हर वक्त अभद्रता से पेश आकर मारपीट तक उतारू हो जाता है। इसके चलते वह शारीरिक व मानसिक तौर से काफी घबरा गया है और न्याय की गुहार लगाते हुए केलवा थाने पर पहुंचा। रिपोर्ट में बताया कि चार माह से प्रधानाचार्य द्वारा लगातार टॉर्चर किया जा रहा है। वह एक हाथ व एक पैर से लकवाग्रस्त है और प्रधानाचार्य की प्रताडऩा से रोता-बिलखता रहता है। इस पर केलवा पुलिस ने रिपोर्ट लेकर जांच शुरू कर दी।


समझौते की चलती रही चर्चा
पड़ासली उमावि में कथित तौर पर प्रधानाचार्य द्वारा लिपिक से मारपीट का मामला केलवा थाने में पहुंचने के बाद समझौते को लेकर दोनों पक्षों के समर्थकों में वार्ता चली। दोनों पक्षों के लोग केलवा थाने में भी आए, मगर पुलिस ने रिपोर्ट लेकर जांच शुरू कर दी। इधर, आपस में समझौता होने व रिपोर्ट थाने से वापस लेने की चर्चा भी काफी चलती रही।


प्रधानाचार्य के खिलाफ रिपोर्ट
हां, पड़ासली प्रधानाचार्य के खिलाफ उसी स्कूल के एक लिपिक ने रिपोर्ट दी है। आरोप है कि गाली गलोच कर अभद्रता से पेश आता है और डराते धमाकाते हुए उसके साथ मारपीट भी की। इसकी जांच पूर्ण होने के बाद अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

भरत योगी, थाना प्रभारी पुलिस थाना केलवा

लिपिक के सभी आरोप झूठे
मुझ पर लिपिक द्वारा जो भी आरोप लगाए गए हैं, वे सभी निराधार व झूठे हैं। इस तरह की कोई बात नहीं है।
नगेन्द्र मेहता, प्राचार्य राउमावि, पड़ासली

laxman singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned