scriptराजस्थान के इस शहर में हो रहा अच्छा काम, गौशाला संचालक कर रहे मना…पढ़े पूरी खबर | Good work is happening in this city of Rajasthan, cowshed operators a | Patrika News
राजसमंद

राजस्थान के इस शहर में हो रहा अच्छा काम, गौशाला संचालक कर रहे मना…पढ़े पूरी खबर

राजसमंद. शहर में घूमने वाले लावारिश सांडों को नगर परिषद की टीम पिछले कई दिनों से लगातार पकड़ रही है, लेकिन गौशाला संचालक उन सांडों को लेने आनाकानी कर रहे हैं। इसके कारण संबंधित ठेकेदार को सबसे अधिक परेशानी हो रही है। हालांकि पशुपालन विभाग की ओर जारी पत्र में सांड नहीं लेने पर अनुदान रोकने की हिदायत दी है, इसके बावजूद कुछ गौशाला संचालक आनाकानी कर रहे हैं।

राजसमंदMar 22, 2024 / 11:23 am

himanshu dhawal

राजस्थान के इस शहर में हो रहा अच्छा काम, गौशाला संचालक कर रहे मना...पढ़े पूरी खबर

सांड पकड़ती नगर परिषद की टीम।

नगर परिषद की ओर से शहर में घूमने वाले लावारिश सांडों को पकडकऱ गौशाला भेजा जा रहा है। इसके तहत ठेकेदार के माध्यम से अब तक 174 सांड को जिले की विभिन्न गौशालाओं में भेजा जा चुका है। नगर परिषद क्षेत्र से ठेकेदार के कार्मिक सांडों को पकडकऱ ट्रक में भर देते हैं, लेकिन गौशाला संचालक इन्हें लेने में आनाकानी कर रहे हैं। ठेकेदार ने बताया कि बुधवार को सांडों को भरकर करीब 10 किलोमीटर दूर स्थित एक गांव की गौशाला में लेकर पहुंचे, लेकिन दो-तीन घंटे इंतजार करवाने के बावजूद उक्त गौशाला में सांडों को नहीं रखा गया। इसके पश्चात उक्त ट्रक को रेलमगरा स्थित एक गौशाला में भिजवाया गया। इसके कारण कई घंटे तक मूक पशुओं को काफी परेशानी हुई। जबकि पशुपालन विभाग की ओर से इस संबंध में समस्त गौशाला संचालकों को पत्र लिखने के बावजूद यह स्थिति सामने आ रही है।
यहां छोड़े अब तक सांड
– 29 धनु गोपाल गौशाला सियाणा में
– 14 चारभुजा स्थित गौशाला में
– 24 श्रीनवल श्याम कृष्म गौशाला केलवा
– 51 संत पीपाजी गौशाला जनवाद
– 29 तुलसी गौशाला रेलमगरा में
– 07 चारभुजा गौशाला बामनियां
– 20 श्री कृष्ण गौसेवा समिति सकरवास
गौवंश लेने के लिए किया पाबंद
शहर से पकड़े गए सांडों को गौशाला में लेने पर आनाकानी करने पर पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. पुरुषोतम पत्की ने बताया कि सभी गौशाला को पत्र लिखा। पत्र में लिखा कि नगर परिषद राजसमंद, नगरपालिका आमेट, देवगढ़ द्वारा पकड़े गए निराश्रित गौवंश के प्रति गौशाला 10-12 पशु अपनी गौशाला में रखना सुनिश्चित करे। उक्त आदेश की अनुपालना नहीं करने पर गौशालाओं में संधारित गौवंश के भरण पोषण के लिए दी जाने वाली अनुदान सहायता राशि का भुगतान नहीं किया जाएगा।
19 गौशाला संचालित, इन्हें मिलता अनुदान
पशुपालन विभाग की ओर से जिले में 19 गौशालाओं को अनुदान दिया जाता है। इसमें आदेश गौपालन संस्थान जुणदा रेलमगरा, आदेश गौपालन एवं संरक्षण केन्द्र राबचा देलवाड़ा, जय सिंह श्याम गौशाला समिति आमेट, मां आशापुरा गौशाला सेवा समिति बांसडाई भीम, संत पीपाजी गौशाला सेवा समिति जनावद-चारभुजा, शांतिनाथ जैन सार्वजनिक गौशाला रूप रजत नगर भीम, श्री गुरू सौभाग मदन गौशाला देवगढ़, श्री राधाकृष्ण गौशाला संस्थान कुंआथल देवगढ़, श्री धेनू गोपाल गौशाला सेवा समिति सियाणा आमेट, जय जैन गौशाला ताल देवगढ़, श्री केसरी लाल सिरोरिया कुंवारिया स्मृति श्रीकृष्ण गौशाला मादड़ी महासतियों की, श्रीमति नोजीबाई खेमराजजी कोठारी गौशाला गढ़बोर चारभुजा, श्रीद्वारकेश गौशाला आसोटिया कांकरोली, श्री नवल श्याम कृष्ण गौशाला समिति धौलीमंगरी केलवा, श्रीकृष्ण गौशाला सरकवास, श्री तुलसी गौशाला रेलमगरा, श्रीचारभुजा गौशाला बामणिया, श्रीजैन दिवाकर गुरू प्रताप कमल तीर्थ गौशाला सेवा समिति मालकोट कांकरोद देवगढ़ एवं श्री वि_लेस गौशाला चौपेता बाग नाथद्वारा आदि शामिल है।
गौशाला वाले सांड लेने में करते हैं आनाकानी
शहर से अब तक 174 सांडों को पकडकऱ गौशाला में छोड़ा जा चुका है। कुछ गौशाला वाले सांडों को लेने में आनाकानी करते हैं। बुधवार को मोही की गौशाला में सांडों को नहीं लिया गया, इसके कारण उन्हें रेलमगरा भेजना पड़ा, जबकि पशुपालन विभाग इन्हें पाबंद कर चुका है।
– गिरिराज गर्ग, मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक नगर परिषद
https://www.dailymotion.com/embed/video/x8vcske

Hindi News/ Rajsamand / राजस्थान के इस शहर में हो रहा अच्छा काम, गौशाला संचालक कर रहे मना…पढ़े पूरी खबर

ट्रेंडिंग वीडियो