ग्राम पंचायत कार्यालय पर ताला जडऩे पर सरपंच- उप सरपंच पर मुकदमा : हटाए ग्रामसेवक को फिर से लगाने का मामला

- राजसमंद जिले की मोलेला पंचायत का मामला

By: laxman singh

Published: 22 Aug 2017, 12:13 PM IST

खमनोर. मोलेला गांव में पूर्व में हटाए गए ग्राम सेवक को दोबारा ग्राम पंचायत में नियुक्त करने से खफा सरपंच की ओर से पंचायत कार्यालय पर तालाबंदी करने पर खमनोर पंचायत समिति के विकास अधिकारी ने खमनोर थाने में सरपंच, उपसरपंच सहित तीन जनों के खिलाफ राजकार्य में बाधा का मामला दर्ज कराया है।
खमनोर विकास अधिकारी विरेन्द्र जैन द्वारा तालाबंदी को लेकर दी गई रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने परिवाद दर्ज कर जांच के उपरांत मोलेला सरपंच भगवती देवी, उपसरपंच सुधीर बोहरा एवं सरपंच पति दिनेश कुमार के विरुद्ध मामला दर्ज किया। थानाधिकारी मदनसिंह चौहान ने बताया कि विकास अधिकारी वीरेंद्र जैन की ओर से दी गई रिपोर्ट में बताया कि 4 अगस्त को सरपंच ने ग्राम पंचायत पर तालाबंदी कर दी, जिससे उस दिन पंचायत का राजकीय कार्य प्रभावित हुआ एवं पंचायत से जुड़े कार्यो के लिए आने वाले लोगों को परेशानी हुई।


यह था मामला
ग्राम पंचायत में पूर्व में ग्राम सेवक पद पर खेमसिंह नियुक्त था, जिसके विरुद्ध सरपंच ने जिला कलक्टर के समक्ष पेश होकर शिकायत दर्ज की थी। इसके बाद ग्राम सेवक को उस समय मोलेला से हटाकर अन्यत्र नियुक्त किया गया। किन्तु जुलाई माह में खेमसिंह को दोबारा मोलेला में नियुक्त करने को लेकर सरपंच ने विरोध जताते हुए विकास अधिकारी से उसे अन्यत्र लगाने की मांग की, लेकिन ग्राम सेवक को नहीं हटाया गया तो खफा सरपंच ने 4 अगस्त को विरोध प्रदर्शन करते हुए ग्राम पंचायत भवन पर तालाबंदी कर दी थी।


ग्रामसेवक से ग्रामीण भी नाराज
जिस ग्रामसेवक को दो साल पहले जिला कलक्टर के आदेश पर हटाया था, उसी को दोबारा नियुक्त करने पर ग्रामीण भी नाराज हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि ग्रामसेवक जातिवाद चलाता है। इसी वजह से ग्रामसेवक ने पहले सरपंच को कई बार कुर्सी की बजाय नीचे बैठने के लिए कह दिया था। इसके चलते सरपंच, वार्डपंच से लेकर कई ग्रामीण असंतुष्ट है। इससे पंचायत समिति खमनोर व जिला परिषद के साथ ही प्रशासन की भूमिका पर भी सवाल खड़े हो गए।

laxman singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned