द्वारकाधीश, श्रीनाथजी ने आरोगा राजभोग, हुआ अश्व, शस्त्र पूजन

जिलेभर परम्परानुसार मना दशहरा का पर्व

By: Aswani

Updated: 25 Oct 2020, 08:21 PM IST

राजसमंद. जिले में रविवार को दशहरा का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इसबार कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए मेला और रावण दहन आदि के कार्यक्रम नहीं हुए। प्रभु द्वारकाधीश के मंदिर में भी विधि विधान से परम्पराओं का निर्वाहन किया गया। दशहरा पर्व के तहत नाथद्वारा से श्रीनाथजी भावनात्मक रूप से प्रभुद्वारकाधीश से मिलने आए और यहां साथ में राजभोग अरोगा। वहीं परम्परा अनुसार शस्त्र और अश्व का पूजन किया गया।


पुष्टिमार्गीय तृतीय पीठ प्रन्यास के श्रीद्वारिकाधीश मंदिर में रविवार को दशहरा परम्परा अनुसार मनाया गया। दशहरा के उपलक्ष में भोग संध्या आरती में प्रभु द्वारकाधीश को जवारे धराए गए तत्पश्चात मंदिर परंपरा अनुसार गोस्वामी वेदांत कुमार द्वारा बालकृष्ण लालजी की बैठक में शस्त्र पूजन किया गया। बाद में गोवर्धन पूजा चौक में वेदांत कुमार द्वारा अश्व पूजन की रस्म पूरी की गई। इस अवसर पर खेजड़ी पूजन की वर्षों पुरानी परंपरा का निर्वहन भी किया गया गौरतलब है कि दशहरा के दिन वर्षों पुरानी इन परंपराओं को निभाने का क्रम आज भी निरंतर जारी है। दशहरे पर आज प्रभु को ढाल और तलवार धराई गई इन दर्शनों को करने के लिए सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु मंदिर पहुंचे।

Aswani Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned