GST RELIEF : जीएसटी में 10 फीसदी दर घटने से मार्बल और गे्रनाइट कारोबार को मिली संजीवनी : रॉयल्टी में नहीं मिल पा रही राहत

मार्बल व गे्रनाइट कारोबार में मंदी का साया : 28 से 18 फीसदी रह गई जीएसटी दर

By: laxman singh

Published: 12 Nov 2017, 01:24 PM IST

राजसमंद. आर्थिक मंदी से जूझ रहे मार्बल व्यवसाय पर सरकार ने राहत की बारिश की है। जुलाई में लागू की २८ प्रतिशत जीएसटी दर को शुक्रवार को १८ प्रतिशत कर दिया गया। जिससे मार्बल व्यवसाइयों ने राहत की सांस ली। जीएसटी कौंसिल की शुक्रवार को हुई बैठक में केन्द्र सरकार ने २८ प्रतिशत बढ़ी जीएसटी को घटाकर १८ प्रतिशत करने का फैसला किया। इस फैसले ने राजसमंद सहित राज्य के कई क्षेत्रों में संजीवनी का काम किया। इससे मार्बल एवं ग्रेनाईट जगत के बड़े उद्योगपतियों ने राहत महसूस की। गौरतलब है कि पिछले कई महीनों से जीएसटी की बढ़ी दरों के कारण मार्बल व्यवसाय ठप पड़ा था, और व्यवसाई लगातार विरोध कर रहे थे।

यह होगा फायदा
मार्बल और ग्रेनाईट में जीएसटी कम होने से निर्माण कार्यों में लागत कम होगी। ऐसे में सुस्त पड़े कारोबार में तेजी आ सकती है। इससे मजदूर वर्ग को भी काम मिलेगा। साथ ही परिवहन सहित कई उद्योगों पर भी अप्रत्यक्ष रूप से लाभ होगा।

श्रमिक वर्ग को भी राहत
मार्बल में जीएसटी की दर कम होने का लाभ मजदूर वर्ग को भी मिलेगा। क्योंकि जीएसटी के बाद मार्बल व्यवसाय प्रभावित होने तथा उद्योग इकाइयां बंद होने से ६० फीसदी मजदूर पलायन कर चुके थे, कइयों की मालिकों ने छटनी कर दी थी। ऐसे में श्रमिक वर्ग को भी सीधे तौर पर लाभ मिलेगा। उनका छिना हुआ रोजगार उन्हे फिर से मिलने की उम्मीद है।

अभी भी रॉयल्टी का दंश
मार्बल व्यवसाय में जीएसटी की दर कम होने से जहां व्यवसाइयों में राहत है वहीं अभी भी रॉयल्टी दरों में कमी नहीं होने का दंश बना हुआ है। वहीं ईरवन्ना की दिक्कतें भी मार्बल व्यवसाइयों के गले की फांस बनी हुई है।

मार्बल व्यवसाइयों ने जताया हर्ष
मार्बल ट्रेडर्स एसोसिएशन की बैठक गोविंद सनाढ्य की अध्यक्षता में हुई। इस दौरान सचिव सुशील बड़ोला ने बताया कि केन्द्र सरकार कि ओर से जुलाई में लागू की गई २८ प्रतिशत जीएसटी को १० प्रतिशत कम कर देने से मार्बल के सभी एसोसिएशन में खुशी की लहर है, साथ ही रिर्टन भरने में भी राहत मिली है।

कारोबारियों ने आतिशबाजी कर जताई खुशी
केलवा. केन्द्र सरकार द्वारा मार्बल पर जीएसटी की दर 28 से घटाकर 18 प्रतिशत करने का मार्बल व्यवसाइयों ने स्वागत किया है। मार्बल पर जीएसटी की दर कम होने की खबर लगते ही मार्बल व्यवसाईयों ने एक-दूसरे को अवगत कराते हुए खुशी जताई। मार्बल माइंस ऑनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष गौरवसिंह राठौड़ व पर्यावरण विकास संस्था अध्यक्ष रामनारायण पालीवाल ने बताया कि सरकार अब जल्द से जल्द रॉयल्टी की दरों में भी कमी कर दे तो मार्बल व्यवसाय को नया जीवन मिल जाएगा। वहीं, मार्बल व्यापारियों ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर एवं भाजपा कार्यकताओं ने आतिशबाजी करते हुए खुशी का इजहार किया। इस दौरान तनसुख बोहरा, दिनेश बडाला, नानालाल सिंधल, देवीलाल प्रजापत, मधुसूदन व्यास, मानसिंह बारहठ, बाबूलाल कोठारी, लवेश मादरेचा सहित बड़ी संख्या में मार्बल व्यवसाई मौजूद थे।

GST
Show More
laxman singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned