अस्पतालों में अब संगीत घटाएगा प्रसूताओं का दर्द

Aswani Pratap Singh

Publish: Mar, 17 2019 01:54:04 PM (IST)

Rajsamand, Rajsamand, Rajasthan, India

अश्वनी प्रतापसिंह @ राजसमंद. प्रसूताओं का प्रसव पीड़ा से ध्यान हटाने के लिए अस्पतालों के प्रसव वार्ड में म्यूजिक सिस्टम लगाए जाएंगे। खमनोर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर यह व्यवस्था अभी उपलब्ध है, इसी से प्रेरणा लेकर जिले के करीब 37 अस्पतालों में यह सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। गौरतलब है कि इसके लिए ऐसे चिकित्सा संस्थानों का चयन किया गया है, जहां पर प्रसव के विभाग द्वारा निर्धारित लक्ष्य पूरे होते हैं।


यह होगा फायदा
चिकित्सकों ने बताया कि म्यूजिक सिस्टम में केवल गीतों की ध्वनि को मंद आवाज में चलाने से प्रसूता का ध्यान उस गीत पर केंद्रित होगा। जो प्रसव पीड़ा के दर्द को कम करने में सहायक होगा।


खमनोर चिकित्सालय में है व्यवस्था
खमनोर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रसूव वार्ड में म्यूजिक सिस्टम लगा हुआ है। जब यहां प्रसव करवाया जाता है तब इसमें मंद आवाज में गीत की धुन बजाई जाती है। चिकित्सकों का दावा है कि इससे प्रसूता को मानसिक राहत मिलती है। हालांकि इसे चलाने में आवाज का बहुत अधिक ध्यान रखना होता है, क्योंकि तेज आवाज हानिकारक भी हो सकती है।


परियोजनानिदेशक ने सराहा
हालही में चिकित्सा संस्थानों के प्रसूता वार्डों का निरीक्षण करने आए राज्य परियोजना निदेशक मातृ स्वास्थ्य डॉ. तरुण चौधरी ने खमनोर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर लगे इस सिस्टम की सराहना कर सिस्टम की वीडियो रिकॉर्डिंग भी की थी। बताया जाता है कि जब चौधरी राजसमंद में सीएमएचओ पद (वर्ष २०१1-12) पर थे, तब उन्होंने अस्पतालों में म्यूजिक सिस्टम लगाने की पहल की थी, लेकिन उनके जाने के बाद नवाचार दबकर रह गया।


यहां लगेंगे सिस्टम
जिले के कुंभलगढ़, भीम, कांकरोली, देवगढ़, आमेट, रेलमगरा, देलवाड़ा, केलवा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा मजेरा, बरार, कुंवारिया, कुंदवा, गजपुर, ताल, बग्गड़, बरार, सरदारगढ़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा 19 उपस्वास्थ्य केंद्रों पर यह सिस्टम लगाए जाएंगे।


जिले में चिह्नित हैं 37 चिकित्सा संस्थान
यों तो जिले के सभी चिकित्सा संस्थानों पर प्रसव होते हैं लेकिन चिह्नित 37 केंद्र ही हैं। इन केंद्रों को सरकार की ओर से लक्ष्य पूरे करने पर प्रोत्साहन राशि भी मिलती है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर महीने में 50 से अधिक प्रसव होने पर प्रति केस 500 रुपए, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर 30 से अधिक होने पर 500 रुपए तथा उपस्वास्थ्य केंद्र पर 7 से अधिक प्रसव होने पर 300 रुपए प्रोत्साहन राशि के दिए जाते हैं, जो चिकित्सक, सफाई कर्मी तथा सहयोगियों में नियमानुसार बंटते हैं। वहीं लक्ष्य से ऊपर सिजेरियन प्रसव होने पर प्रति केस 3000 रुपए प्रोत्साहन के लिए दिए जाते हैं।


फैक्ट फाइल
१२ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र
४४ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र
२६० उपस्वास्थ्य केन्द्र

शीघ्र शुरू करवाएंगे...
खमनोर स्वास्थ्य केंद्र के प्रसूव वार्ड में म्यूजिक सिस्टम लगा है, प्रसव के दौरान उसे मंद आवाज में चलाया जाता है, जिससे प्रसूता का ध्यान प्रसव पीड़ा से हटकर गीत की धुन पर चला जाता है। जिससे उसकी चीख-पुकार कुछ कम हो जाती है। इस प्रयोग की निदेशक महोदय ने रिकॉर्डिंग की थी, अब इसे हम पूरे जिले के चिह्नित प्रसव केंद्रों पर लगवाएंगे। डॉ.जेपी बुनकर, सीएमएचओ, राजसमंद

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned