VIDEO: Rajasthan में बंद पड़ी हैं करोड़ों की एक्स-रे मशीनें

Aswani Pratap Singh

Updated: 16 Jul 2019, 11:56:53 AM (IST)

Rajsamand, Rajsamand, Rajasthan, India

राजसमंद. एक्स-रे की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए वर्ष 2018 में सरकार ने डिजिटल एक्स-रे मशीनों की खरीददारी कर सभी जिला अस्पतालों और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर इन्हें लगवाया। इन अस्पतालों में पूर्व में लगी करोड़ों रुपए की साधारण एक्स-रे मशीनें आज उपयोगहीन होकर बंद पड़ी हैं। कई जगह जिम्मेदार दोनों मशीनों को चला रहे हैं। नई मशीनें लगने के करीब ९ माह बाद भी चिकित्सा विभाग ने पुरानी मशीनों के संचालन को लेकर कोई आदेश नहीं दिया, ऐसे में कई जगह तो यह धूल फांक रही हैं।

केस 1
राजसमंद जिले में अक्टूबर २०१८ में ११ डिजिटल एक्स-रे मशीनें लगाई गईं। इस दौरान कई अस्पतालों में पहले से लगी साधारण एक्स-रे मशीनें बंद पड़ी हैं। कई जगह दोनों मशीनें संचालित हैं, लेकिन डिजिटल लगी होने के बाद दूसरी मशीन का संचालन बेकार है।


केस 2
बंूदी जिले को मात्र चार डिजिटल एक्स-रे मशीनें मिली थीं, यहां सीएमएचओ स्तर पर पुरानी मशीनों को पास के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर लागकर संचालित किया जा रहा हैं। बूंदी सीएमएचओ ने जीएल मीणा ने बताया कि डिजिटल चालू होने के बाद हमने पुरानी मशीनों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर लगा दिया।


केस 3
भरतपुर के सीएमएचओ डॉ. गोपाल शर्मा ने बताया कि वर्ष २०१८ में डिजिटल एक्स-रे मशीनें कई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर लगाई गई थीं, लेकिन उनकी संख्या नहीं याद है। यहां भी कुछ जगह पुरानी मशीनें लगी हैं।

 


बंद पड़ी हैं आधी डिजिटल मशीनें
सरकार ने प्रदेश में डिजिटल मशीनें तो लगवाई लेकिन उनके संचालन को लेकर कोई पुख्ता व्यवस्था नहीं की गई। जिससे अधिकतर जगह मशीनें लगने के ९ माह बाद भी इनका संचालन शुरू नहीं हो पाया है। उदारहण के तौर पर राजसमंद जिले के रेलमगरा, दरीबा, खमनोर व चारभुजा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हैं। यहां अक्टूबर २०१८ में डिजिटल एक्स-रे मशीनें लगाई गईं, लेकिन ९ माह बाद भी आजतक इनका संचालन शुरू नहीं हो सका। अधिकारियों का कहना है कि डिजिटल मशीनों को चलाने के लिए ऑपरेटर नहीं हैं, जिससे इनका संचालन बाधित हो रहा है।


करोड़ों रुपए की हैं पुरानी मशीनें
बताया जाता है कि प्रदेश में करीब 280 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में डिजिटल मशीनें लगाई गई थीं। जिन अस्पतालों में यह मशीनें लगी हैं, उनमें से अधिकतर में पुरानी एक्स-रे मशीनें पहले से चल रही थीं। एक पुरानी 100 एमएम एक्स-रे मशीन की कीमत ही करीब १ लाख रुपए है, इस अनुमान से ही करीब पौने तीन करोड़ की मशीनें बंद पड़ी हैं। जबकि अधिकतर अस्पतालों में 200 एमएम से लेकर 500 एमएम तक की मशीनें लगी हुई थीं, और उनकी कीमत भी दो लाख से लेकर पांच लाख रुपए प्रति मशीन है।


कोई आदेश नहीं है...
पुरानी मशीनों के संचालन को लेकर कोई आदेश नहीं है, अभी जिन अस्पतालों में पुरानी मशीनें हैं वह लगभग बंद हैं।
-डॉ. जेपी बुनकर, सीएमएचओ, राजसमंद

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned