देलवाड़ा को मिलेगा पहला प्रधान, लम्बी बाड़ेबंदी में रहेंगे चुने हुए सदस्य

पंचायती राज चुनाव के चुनाव की तारीख आखिरकार घोषित, जिले में पंचायत समिति और जिला परिषद को मिलेंगे मुखिया, जिला निर्वाचन विभाग ने 600 ईवीएम और मंगवाई

By: jitendra paliwal

Published: 25 Oct 2020, 10:07 AM IST

राजसमंद. आखिरकार एक साल बाद पंचायती राज को डेढ़ माह में उनके मुखिया मिलने जा रहे हैं। निर्वाचन विभाग की ओर से चुनावों की तारीख घोषणा के साथ ही निर्वाचन प्रक्रिया की तस्वीर साफ हो गई है। कोविड-19 के संक्रमण के दौर के बीच ऐहतियात बरतते हुए चार चरणों में जिला परिषद के 25 और 131 पंचायत समिति सदस्यों के लिए होने वाले मतदान में एक मतदाता दो वोट करेगा।
पहले चरण में सदस्य चुनाव और प्रधान-जिला प्रमुख के निर्वाचन की प्रक्रिया के बीच करीब 18 दिन का अंतराल है। ऐसे में चुने गए सदस्यों को लम्बे समय के लिए बाड़ाबंदी में रखा जा सकता है। खमनोर से अलग होकर नई बनी पंचायत समिति देलवाड़ा को भी प्रधान और नए सदस्य मिलेंगे। हालांकि देलवाड़ा पंचायत समिति के लिए अभी भवन, विकास अधिकारी और अधीनस्थ स्टॉफ भी नहीं है, लेकिन सदस्य और प्रधान चुनने की तैयारी की जा रही है।

निर्वाचन विभाग के मुताबिक पहले चरण में दो पंचायत समितियों के 31 वार्डों के चुनाव 45 ग्राम पंचायतों में बने 266 बूथ पर, दूसरे चरण में तीन पंचायत समितियों के 51 वार्डों के 70 पंचायतों में बने 353 बूथों पर, तीसरे चरण में दो पंचायत समितियों के 32 वार्डों के चुनाव 53 पंचायतों के 287 बूथों पर और अंतिम चरण में एक पंचायत समिति के 17 वार्डों के चुनाव 37 पंचायतों के 152 बूथों मतदान केन्द्रों पर होंगे। निर्वाचन विभाग को 600 ईवीएम की और जरूरत है।

एक ही दिन दो वोट
जिला परिषद के 25 सदस्यों के लिए भी मतदान अपने-अपने इलाके में पंचायत समिति सदस्यों के साथ ही होगा। यानि एक मतदाता दो वोट डालेगा। सभी चरणों के मतदान समाप्त होने के बाद जिला प्रमुख और प्रधान चुनने की प्रक्रिया लगातार दो दिन चलेगी। इस बार कोविड-19 के चलते सोशल डिस्टेंसिंग के मद्देनजर मतदान का समय बढ़ाकर सुबह 7.30 से शाम 5 बजे तक का किया है। जिला परिषद सदस्य के लिए 1.50 लाख रुपए एवं पंचायत समिति सदस्य के लिए अधिकतम 75 हजार रुपए चुनावी खर्च सीमा रहेगी।

---फैक्ट फाइल---

08 पंचायत समितियां हैं अब जिले में
131 पं.स. सदस्यों के लिए होगा मतदान
25 सीटें हैं जिला परिषद सदस्यों के लिए
214 ग्राम पंचायतों के 1058 बूथों पर होगी वोटिंग
2850 ईवीएम की जा रही हैं तैयार

चुनावी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। 600 ईवीएम और मंगवाई जा रही हैं। अभी 2250 ईवीएम उपलब्ध हैं। निर्वाचन कार्य से सम्बंधित सभी स्तरों के अधिकारी-कर्मचारियों के प्रशिक्षण 4 नवम्बर से शुरू करने जा रहे हैं। मतदाताओं से अपील है कि कोविड-19 की गाइडलाइन की पालना करें।
अरविन्द पोसवाल, जिला निर्वाचन अधिकारी

jitendra paliwal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned