#Change maker अगर हर शख्स दृढ़ संकल्प ले लिया जाए, तो स्वच्छ राजनीति संभव

#Change maker अगर हर शख्स दृढ़ संकल्प ले लिया जाए, तो स्वच्छ राजनीति संभव

laxman singh | Publish: May, 18 2018 09:53:09 AM (IST) Rajsamand, Rajasthan, India

बार एसोसिएशन की कार्यशाला में बोले अधिवक्ता

राजसमंद. वर्तमान राजनीति कीचड़ के समान हो चुकी है। इसे अगर साफ करना है, तो पढ़े-लिखे, ऊर्जावान युवा, स्वच्छ छवि वाले लोगों को कीचड़ में उतरना ही होगा। दूर रहकर या राजनीति को कोसने से आम आदमी भ्रष्ट, बदमाश और आपराधिक किस्म के राजनेताओं की राह और आसान ही होगी। यह विचार राजनीति में शुचिता को लेकर राजस्थान पत्रिका की ओर से चलाए जा रहे चेंजमेकर महाअभियान के तहत गुरुवार को बार एसोसिएशन में आयोजित संगोष्ठी में उभरकर आए। एसोसिएशन अध्यक्ष जयदेव कच्छावा ने गोष्ठी की अध्यक्षता की। अधिवक्ताओं ने पत्रिका के अभियान को वर्तमान समय की महत्ती आवश्यकता बताते हुए राजनीति में स्वच्छता लाने की शपथ ली। वक्ताओं ने वर्तमान राजनीति को व्यापार तक बताया और बेबाकी से कहा कि शिक्षित युवाओं, समाज में अच्छे लोगों को आगे आना होगा।

इन्होंने भी रखे विचार
संगोष्ठी के दौरान मुरारी आशिया, विक्रम कुमावत, दिनेश कुमार खटीक, सुरेशचन्द्र आमेटा, जीवराज पालीवाल, गोवर्धन गुर्जर, मुकेश ओस्तवाल, हर्षवद्र्धन सिंह राठौड़, अमित सरूपरिया, प्रवीण मण्डोवरा, राजसिंह चौधरी, महेश सेन, नरेन्द्र पालीवाल, सुनील बोहरा, भरत पालीवाल, नीलम शर्मा समेत कई अधिवक्ताओं ने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन दिनेश श्रीमाली ने किया।

राजस्थान पत्रिका के चेंजमेकर अभियान के तहत संगोष्ठी में बेबाकी से बोले अधिवक्ता
वर्तमान राजनीति में ज्यादातर लोग वे हैं, जिन पर किसी न किसी तरह का मुकदमा दर्ज है। उसके बाद भी चुनाव लडऩे का उन्हें हक है। दागी चुनाव जीतेंगे, तो वे देश का भविष्य कैसे सुधार कर सकते हैं? ऐसे नेताओं के चुनाव लडऩे पर पाबंदी लगाई जाए।
जयदेव कच्छावा, अध्यक्ष, बार एसोसिएशन, राजसमंद

स्कूल के विद्यार्थी हो या युवा, सभी को कानून की आधारभूत जानकारी होना बहुत जरूरी है, तभी लोगों में कानून और राजनीति की समझ बढ़ेगी। हाल ही में कानून की जानकारी के अभाव में भ्रष्ट लोग राजनीति का दुरुपयोग कर रहे हैं।
प्रजीत तिवारी, पूर्व अध्यक्ष, बार एसोसिएशन

राजनीति अब प्रभावशाली लोगों के हाथों की कठपुतली हो गई है। इसमें बदलाव की जरूरत है। बदलाव के लिए लोकतंत्र में मीडिया, विधिवेत्ता और सामाजिक कार्यकर्ताओं को एकजुट होना पड़ेगा, तब राजनीति में बदलाव आ सकता है। बहादुर सिंह चारण, अधिवक्ता अधिवक्ताओं का संगठन एक जिम्मेदार सामाजिक संगठन है। हम सभी को मिलकर स्वच्छ राजनीति के लिए युवाओं को जागरूक करना होगा। बदलाव के नायक बनकर स्वच्छता की राजनीति करना हमारी नैतिक जिम्मेदारी भी है।
अतुल पालीवाल, अधिवक्ता

आज राजनीति एक व्यापार बन चुकी है। स्वच्छ राजनीति की शुरुआत से पहले जातिवाद, क्षेत्रवाद और धर्म से हटकर हमें काम करना होगा। साथ ही युवाओं को राजनीति के साथ-साथ शिक्षित करना भी जरूरी है।
नरेन्द्र पालीवाल, अधिवक्ता

वर्तमान राजनीति में सफलता हासिल करने के लिए राजनेता किसी भी हद तक जाने से नहीं चूक रहे। लोगों से उनका हक छीनने का भरसक प्रयास किया जा रहा है। ऐसे में गंदी राजनीति करने वालों को रोकने के लिए सभी को जागरुक होकर जनता की शक्ति का परिचय देना चाहिए।

गोपालकृष्ण आचार्य, अधिवक्ता

राजनीति की सफाई के लिए सभी को एकजुट होना पड़ेगा। लोगों की आपसी खींचतान, विघटन का तमाम राजनैतिक दल फायदा उठा रहे हैं। दागियों को राजनीति से दूर करना है, तो हमें उठ खड़ा होना होगा।
हरजेन्द्र सिंह चौधरी, अधिवक्ता

आज कोई भी सही रास्ते पर नहीं चलना चाहता। शॉर्टकट अपनाना चाहते हैं। राजनीति में भी यही हो रहा है। इस आदत को समाप्त करना होगा। कोई भी काम करवाने के लिए रिश्वत देना, अपनी बात पहले मनवाने जैसे गंदे रीति-रिवाज जनता को ही खत्म करने होंगे, तभी राजनीति स्वच्छ होगी।
कैलाशचन्द्र बोल्या, अधिवक्ता

वर्तमान राजनीति कीचड़ की तरह हो गई है। इसे सभी लोगों को एकसाथ जुडक़र साफ करना होगा। शासन करने की नीति को पारदर्शीऔर शुद्ध बनाना बहुत मुश्किल नहीं है, बशर्ते अच्छे लोग एकजुट हो जाएं।
जितेन्द्र खटीक, अधिवक्ता

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned