BREAKING : गाय का इलाज करते गोसेवकों को कुछ युवकों ने पीटा, फिर थाने पर गए तो पुलिस ने भी की पिटाई

नाथद्वारा आदर्श थाने के पुलिसकर्मियों के खिलाफ की डीएसपी को शिकायत

By: laxman singh

Published: 06 Apr 2018, 06:43 PM IST

नाथद्वारा. आदर्श पुलिस थाने में पुलिसकर्मियों द्वारा गोसेवकों से मारपीट के आरोप को लेकर गुरुवार को पुलिस प्रशासन को ज्ञापन दिया गया। प्रकरण की जांच करते हुए गोसेवकों ने दोषी पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की। गोरक्षा दल सेवा संस्थान ने पुलिस उप अध्ीाक्षक कानसिंह भाटी को दिए ज्ञापन में बताया कि बुधवार रात कुछ सदस्य बस स्टैंड पर बीमार गाय का इलाज कर रहे थे। तभी समुदाय कुछ युवक वहां आए और गाली-गलौच करते हुए कार से उतर कर गायों को उन्होंने लातें मारी। इसका विरोध करने पर वे उनके साथ भी मारपीट करने लग गए। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई, मगर आरोपित को पकडऩे की बजाय उन्हें ही पुलिस थाने ले गए, जहां पुलिसकर्मियों ने कथित तौर पर उनसे मारपीट भी की। बजरंग दल के गोपाल जोशी, गोरक्षा संस्थान के प्रशांत लोधा, विमल ईनाणी, भूपेन्द्र पालीवाल, भावेश सांचीहर, किशनलाल ने मारपीट घटना की निंदा करते हुए प्रकरण की जांच कर मारपीट करने वाले शाहरुख सहित तीन युवकों व थाने में मारपीट करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इधर, पुलिस ने शांतिभंग के आरोप में सूरज कुमार को गिरफ्तार किया।

निष्पक्ष कार्रवाई करेंगे
मेरी जानकारी में नहीं है। अगर ऐसा हुआ है तो जांच कर निष्पक्ष कार्रवाई की जाएगी।
मनोज कुमार, पुलिस अधीक्षक राजसमंद

ज्ञापन मिला है, जिसकी जांच के बाद नियमानुसार सख्त से सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। थाने में मारपीट की भी जांच की जाएगी।
कानसिंह भाटी, पुलिस उपाधीक्षक, नाथद्वारा

आरोप झूठे
मारपीट के आरोप झूठे हैं। फिर अगर ऐसा हुआ है, तो दिखवाकर कार्रवाई की जाएगी। शहर में माहौल बिगाडऩे वालों पर सख्त कार्रवाई होगी।
महिपालसिंह, सीआई, नाथद्वारा

फंदे पर लटक गए युवती-वृद्ध
राजसमंद/केलवा. राजनगर के सनवाड़ चौराहा स्थित मकान में एक युवती व पड़ासली में वृद्ध ने फांसी का फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली। वृद्ध की आत्महत्या के पीछे कर्ज व आर्थिक तंगी का संदेह जताया जा रहा है, जबकि युवती के फंदे पर लटकने के कारण स्पष्ट नहीं हो पाए। पुलिस के अनुसार सनवाड़ निवासी राजेश्वरी (23) पुत्री बद्रीलाल सुथार ने गुरुवार शाम घर में फंदे पर लटक गई। तभी परिजन पहुंच गए और उसे फंदे से नीचे उतार कर तत्काल आरके जिला चिकित्सालय पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। बाद में उसके शव को जिला अस्पताल के मुर्दाघर में रखवा दिया। अब शुक्रवार सुबह उसका पोस्टमार्टम होगा। इसी तरह पड़ासली निवासी सम्पतलाल (6 5) पुत्र भैरूलाल बड़ाला ने गुरुवार सुबह ग्यारह बजे घर में फांसी का फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली। दोपहर में पत्नी के घर पहुंचने पर पति को फंदे पर लटका देख चीख उठी। बाद में आस पड़ोस से बड़ी तादाद में लोग एकत्रित हो गए। सूचना पर केलवा पुलिस ने मौके पर पहुंच कर ग्रामीणों की मदद से शव नीचे उतरवाया। फिर शव को केलवा अस्पताल के मुर्दाघर में रखवा दिया। प्रथम दृष्टया पूछताछ में सम्पतलाल के आर्थिक तंगी से परेशान होने की बात सामने आई है। बताया गया कि उसके एक बेटा व बेटी है, जो मुंबई में प्रवासरत है, जबकि वे पत्नी के साथ कुछ माह से पड़ासली में ही रह रहे थे। पूर्व में उनका मुंबई में हार्डवेयर का कारोबार था।

Show More
laxman singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned