पब्जी खेलने फोन नहीं दिया तो कर दी दोस्त की हत्या

हत्या के मामले का 48 घण्टे में पुलिस ने किया खुलासा, बाल अपचारी को किया डिटेन, भीम थानांतर्गत जैतपुरा गांव में 11 नवंबर को हुई थी वारदात

By: jitendra paliwal

Published: 17 Nov 2020, 05:52 PM IST

भीम (राजसमंद ). थाना अंतर्गत बार चौकी के जैतपुरा गांव के पास जंगल में हुई किशोर की हत्या के मामले का पुलिस ने 48 घंटों में खुलासा करते हुए एक बाल अपचारी को डिटेन किया है। बताया कि अपचारी ने महज पब्जी गेम खेलने के लिए फोन हथियाने के लिए अपने मित्र की ही हत्या कर दी।
पुलिस अधीक्षक भुवन भूषण यादव ने बताया कि 11 नवम्बर को भैरवाली की पहाड़ी जैतपुरा में हमीद (17) पुत्र रमेश काठात निवासी जैतपुरा भीम का शव संदिग्ध हालत में मिला था। सूचना पर पुलिस वृत्त निरीक्षक गजेन्द्रसिंह राठौड़, पुलिस उप अधीक्षक समन्दरसिंह मौके पर पहुंचे तथा मृतक के पिता की रिपोर्ट पर हत्या का मामला दर्ज किया। मामले में थानाधिकारी राठौड़ के नेतृत्व में भीम पुलिस की टीम ने घटना की पूरी गुत्थी सुलझाते हुए कड़ी से कड़ी जोड़कर हत्या करने वाले विधि से संघर्षरत एक किशोर को डिटेन किया। मृतक के पिता रमेश की रिपोर्ट अनुसार 9 नवम्बर को वह तथा उसकी पत्नी रूकमा देवी व पुत्र हमीद निमड़ा वाले खेत पर मोटर चलाकर पिलाई कर रहे थे। शाम 4 बजे कपास लेेने वाली गाड़ी आने से वे तथा पत्नी घर पर आ गए। जबकि, उनका पुत्र हमीद कुएं पर पिलाई कर रहा था। शाम को पुत्र के घर नहीं पहुंचने पर उसके मोबाइल से संपर्क का प्रयास किया तो वह बंद था। इस पर उन्होंने पड़ोसी के साथ पुत्र की तलाश की तो वह कुएं एवं गांव दोनें जगह नहीं मिला। रिश्तेदारो से भी सुबह तक पता नहीं चल पाया। इसके बाद10 नवम्बर को मोटरंों से हमारे कुएं का पानी तोड़ा पुलिस थाना भीम को भी फोन किया। इस पर थाने से भी पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचेे। इसके बाद दूसरे कुएं का पानी तोडऩे की तैयारी की तो अपरान्ह करीब 3 बजे गांव के बकरियां चराने वाले शकूर पुत्र अली व जैठा पुत्र कमरू ने बताया की रमेश के खेत के पास ही भैरवाली की पहाड़ी पर एक लड़के का शव पड़ा है। इस पर पहाड़ी पर जाकर देखा तो वहां हमीद का शव पड़ा था, जिसका मुंह रूमाल से बांध रखा था। सिर व बदन पर गहरी चोट के निशान थे। मृतक हमीद का मोबाइल मौके से गायब मिला।

यह थी पुलिस टीम
पुलिस टीम में शामिल एएसपी राजेश गुप्ता तथा वृताधिकारी समन्दरसिंह के निर्देषन में सीआई राठौड़, साइबर सेल के एएसआई पवनसिंह, हैड कांस्टेबल मोहम्मद सलीम, किशोरसिंह, नंदकिशोर सिंह, कांस्टेबल शौकत खान, बजरंग, इन्द्रचन्द, संदीप, धर्मेन्द्र, हेमन्त, सुखदेव, संजय, महेन्द्रंिसंह, बनवारी लाल व मनोज शामिल थे।

कॉल डिटेल से पकड़ में आए वारदात के तार
उसकी कॉल डिटेल प्राप्त कर कॉल डिटेल का विश्लेषण किया गया तो अन्तिम समय बाल अपचारी का उसके साथ होना सामने आया। ऐसे में उससे पूछताछ की गई तो बताया की मृतक हमीद के पास वीवो कम्पनी का एन्ड्रोयड फोन था, जिसमें अपचारी को पब्जी वीडियो गेम खेलने का शौक होने से वह मृतक के साथ पब्जी गेम खेलता था। बताया कि अभी 1-2 माह से उसके पास एन्ड्रॉयड फोन नहीं था। इसलिए उसने मृतक हमीद से पब्जी गेम खेलने के लिए फोन मांगा तो उसने देने से मना कर दिया। इस पर अपरचारी ने मृतक हमीद से फोन प्राप्त करने के लिए शाम को करीब 6 बजे के आसपास शौच जाने को कहा तो वे दोनों भैरवाली की पहाड़ी जैतपुरा शौच करने के लिए गए। वहां पर मृतक हमीद पहाड़ी पर बैठकर बीड़ी पी रहा था व एक हाथ मे मोबाइल था, जिसको बालअपचारी द्वारा पीछे से सिर में बड़े पत्थर की चार-पांच चोटे मार दी व फोन ले लिया तथा सीम निकालकर झाडिय़ों में फेंक दी व फोन लेकर मौके से फरार हो गया।

jitendra paliwal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned