NEGLIGENCE : राजसमंद शहर की चरागाह भूमि पर मलबा डाल भू-माफियाओं ने किया कब्जा

laxman singh

Publish: Mar, 14 2018 11:27:13 AM (IST)

Rajsamand, Rajasthan, India
NEGLIGENCE : राजसमंद शहर की चरागाह भूमि पर मलबा डाल भू-माफियाओं ने किया कब्जा

पलेवा मगरी से गरीबों के आशियाने हटाने वाली नगर परिषद मौन

राजसमंद. शहर में प्रशासन और नगर परिषद के जिम्मेदार अधिकारियों ने रसूखदारों को अवैध काम करने की खुली छूट दे रखी है। दूसरा पहलू यह कि उन्हीं अधिकारियों ने छत को मोहताज गरीबों के छोटे-छोटे आशियाने तोडऩे में कोईकोताही नहीं बरती। ऐसा ही मामला इन दिनों शहर के वार्ड नम्बर दो गाडरियावास में सामने आया है, जहां कतिपय भूमाफियाओं ने चरागाह भूमि पर अतिक्रमण चारदीवारी का निर्माण शुरूकर दिया है और जिम्मेदार अधिकारी जानकारी में होने के बावजूद आंखें बंद कर बैठे हैं। राजस्व खाते में बिलानाम जमीन पर मिट्टी डालकर समतलीकरण किया जा रहा है। खड्डे भरने के लिए पास ही पहाड़ी को अवैध रूप से काटकर मिट्टी-पत्थर निकाला गया। इस काम में बड़ी संख्या में ट्रैक्टर व एक्सक्वेटर लगा रखे हैं। अतिक्रमियों ने अब तक सैकड़ों टन मलबा डाल दिया है। यह जमीन हाईवे के बिल्कुल नजदीक है। यह बाजार दर के हिसाब से बेशकीमती जगह है। इसी का अवैध ढंग से फायदा उठाते हुए अवैध कब्जेधारी सक्रिय हो गए हैं। करीब २० हजार वर्गफीटसे ज्यादा भूमि पर कब्जे की नीयत से मलबा डाला जा रहा है।

गरीबों के उजाड़े आशियाने
जिम्मेदार अधिकारी अवैध कब्जों को लेकर शहर में दोहरी नीति अपना रहे हैं। रसूखदारों को मनमानी की अवैध छूट सी मिली हुईहै। राजनगर के गायरियावास क्षेत्रमें हो रहे अवैध कब्जे इसकी पुष्टि करते हैं। यहां पूरी तरह अनदेखी की हुईहै, वहीं पिछले दिनों गरीबों के घोसलों पर परिषद ने पंजा मार उन्हें ढहा दिया था। अवैध निर्माण पर कार्रवाईपलेवा मंगरी पर की गईथी। ऐसे में कईगरीब परिवार बेघर हो गए। मजे की बात यह कि उन घरों के निर्माण की कोई शिकायत तक नहीं हुई, लेकिन परिषद ने बड़ी तत्परता दिखाई। यहां बार-बार शिकायत के बावजूद परिषद मौन है।

दर्जनों घर बने अवैध
परिषद के जिम्मेदारों की नाकामी ही है कि कईइलाकों में प्रशासन की आंखों के सामने दर्जनों मकानों का निर्माण हो चुका है। कई जगहों पर अतिक्रमण बढ़ता जा रहा है। अतिक्रमण के बाद लोग अवैध कब्जाधारी अवैध करार के जरिये एक-दूसरे को जमीनें बेच रहे हैं।

कांग्रेस ने की कार्रवाई की मांग
कांग्रेस पार्षदों व कार्यकर्ताओं ने सोमवार को इस सम्बंध में जिला कलक्टर ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग भी की थी। ज्ञापन में कहा कि कड़ा विरोध दर्ज कराने पर दो दिन पहले नगर परिषद ने उक्त भूमि पर अवैध निर्माण रुकवा दिया था, लेकिन उन्होंने अपनी ऊंची पहुंच, प्रभाव और दबंगईपूर्ण रवैये से परिषद अधिकारियों को बौना साबित करते हुए धड़ल्ले से काम शुरू कर दिया। ज्ञापन देने वालों में पार्षद नारायणलाल सुथार, ब्रजेश पालीवाल, रेखा गायरी, सुनीता रजक, गणेशलाल गायरी सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

कानूनी कार्रवाईहो
परिषद के अधिकारी पक्षपात कर रहे हैं। गरीबों के घर तोडक़र प्रभावशाली लोगों को पूरा सहयोग कर रहे हैं। अतिक्रमियों के खिलाफ परिषद ने कार्रवाईनहीं की, तो हम विरोध-प्रदर्शन करेंगे। अतिक्रमियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाईहोनी चाहिए।
अशोक टांक, प्रतिपक्ष नेता, नगर परिषद

काम बंद कर दिया
दो दिनों से वहां पर काम बंद हो चुका है। आगे भी नहीं होगा। फिर भी अगर होता है, तो कार्रवाई की जाएगी।
बृजेश रॉय, आयुक्त, नगर परिषद

कार्रवाई की जाएगी
मामला मेरी जानकारी में नहीं आया है। ऐसा है तो कार्रवाई की जाएगी।
पीसी बेरवाल, जिला कलक्टर

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned