#Aritamjalam युवाओं के श्रमदान से निखर उठा नाथद्वारा के चौपेता की बावड़ी का स्वरूप

#Aritamjalam युवाओं के श्रमदान से निखर उठा नाथद्वारा के चौपेता की बावड़ी का स्वरूप

laxman singh | Publish: May, 18 2018 10:04:27 AM (IST) Rajsamand, Rajasthan, India

रंंग लाया पत्रिका का अमृतं-जलम् अभियान

नाथद्वारा. राजस्थान पत्रिका के अमृतं-जलम् अभियान के अन्तर्गत शहर के गोविंदपुरा में विट्ठलनाथजी की गोशाला के पास स्थित चौपेता वाली बावड़ी की गुरुवार को सफाई की गई। उसके बाद बावड़ी में भरे पानी की सफाई के लिए ब्लीचिंग भी डाला गया। बावड़ी पर आदर्श हरिओम आश्रम के सदस्यों हितेश श्रीमाली, तिलकेश बागोरा, अर्पित सोनी, अंकित माली, हिमांशु सोनी, विशाल सोनी, रोहित माली, चिराग बागोरा, तरुण पंवार सहित कई युवाओं ने अपने प्रयासों से बावड़ी में जमा कचरे के ढ़ेर को भरकर निकाला। इस दौरान बावड़ी में युवाओं ने ट्यूब की मदद से पानी पर फैले कचरे को निकाला। बावड़ी की सफाई करने के बाद उसमें भरे पानी को भी साफ रखने के लिए उसमें ब्लीचिंग पाउडर भी डाला गया। बाद में युवाओं ने साफ-सफाई का संकल्प लिया।

मंदिर पर भी सफाई की
सभी युवाओं ने बावड़ी के पास ही स्थित बजरंग बली एवं महादेवजी के मंदिर पर भी सफाई की। उल्लेखनीय है कि राजस्थान पत्रिका के अमृतं- जलम अभियान के अन्तर्गत शहर में पहले भी ऐसे आयोजन हुए हैं।

पत्रिका का अभियान महत्वपूर्ण है, जिससे जलाशयों को संवारने में आमजन में भी जागृति आई है।
अंबालाल सोनी, व्यवसायी नाथद्वारा

कार्यशाला आयोजित
राजसमंद. जे. के. ग्राम स्थित लक्ष्मीपत सिंहानिया स्कूल में एस. चांद प्रकाशन के तत्वावधान में बाल मनोविज्ञान एवं कक्षा प्रबंधन कार्यशाला का आयोजन किया गया। उद्घाटन प्राचार्य डॉ. संजय अभिषेक ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। उन्होंने बताया कि इस प्रकार की कार्यशालाओं का आयोजन आज के युग की महती आवश्यकता है। प्राचार्य ने सर्वप्रथम सभी अतिथियों व सभी सहभागियों का स्वागत किया तथा इस कार्यशाला के महत्व के बारे में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने बताया कि इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य शिक्षकों को बाल मनोविज्ञान को समझकर कक्षा का प्रबंधन करने की कला को विकसित करना है। कार्यक्रम की मुख्य वक्ता अदिति रॉय ने विभिन्न जीवन्त उदाहरणों, अनुभवों को साझा करते हुए विभिन्न प्रयोगों द्वारा सहभागी शिक्षकों की सहभागिता को जीवन्त कर दिया। गांधी सेवा सदन तथा ऑरेंज काउटी विद्यालय के शिक्षकों ने भी भाग लिया तथा कुल 80 शिक्षकों ने इस कार्यशाला का लाभ उठाया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned