scriptrajsamand latest news, Rajsamad news | निशुल्क विद्यालय गणवेश नहीं देकर गहलोत सरकार ने बचाए 425 करोड़ रुपए | Patrika News

निशुल्क विद्यालय गणवेश नहीं देकर गहलोत सरकार ने बचाए 425 करोड़ रुपए

पिछले बजट की घोषणा के बाद निकल गया पूरा शैक्षणिक सत्र, विद्यार्थियों को नसीब नहीं हो पाई निशुल्क गणवेश

राजसमंद

Published: February 21, 2022 10:34:55 pm

आईडाणा. राज्य बजट 2021-22 में सरकार ने सभी सरकारी विद्यालयों में कक्षा 1 से 8 तक पढऩे वाले विद्यार्थियों को निशुल्क स्कूल पोशाक देने की घोषणा की थी। घोषणा को एक वर्ष पूरा होने को है, वहीं शैक्षणिक सत्र में भी मात्र दो माह ही बचे हैं। लेकिन, बच्चों को अब तक निशुल्क विद्यालय पोशाक उपलब्ध नहीं हो पाई है।
सरकार ने बजट घोषणा के बाद गणवेश के करीब 425 करोड़ रुपए बचा लिए। हालांकि, कुछ माह पूर्व राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद ने आदेश जारी कर विद्यार्थियों के बैंक खातों की जानकारी इकठ्ठा करने की शुरुआत की थी। लेकिन, प्रभावी मॉनिटरिंग एवं दृढ़ इच्छाशक्ति के अभाव में वह काम पूरा नहीं हुआ। सरकार विद्यार्थियों के बैंक खाते में विद्यालय पोशाक की राशि स्थानांतरित करने की योजना पर काम कर रही है, लेकिन अंतिम निर्णय नहीं हो सका। प्रति विद्यार्थी प्रति वर्ष 600 रुपए की राशि का भुगतान हो सकता है। ऐसा हुआ तो प्रदेश के 71 लाख विद्यार्थियों पर करीब 425 करोड़ की राशि खर्च होगी। बीच सत्र बदली पोशाक : राज्य सरकार ने शैक्षणिक सत्र 2021-22 के बीच में राजकीय विद्यालयों में पोशाक को बदल दिया। सरकार ने 4 वर्ष बाद ही राजनीतिक कारणों से विद्यालय की पोशाक बदल दी। छात्रों की नई पोशाक में हल्के नीले रंग की कमीज तथा डार्क ग्रे रंग की नेकर या पेंट तथा छात्राओं के लिए हल्के नीले रंग का कुर्ता, शर्ट तथा डार्क ग्रे रंग का सलवार या स्कर्ट और डार्क ग्रे रंग का दुपट्टा होगा। सर्दी में डार्क ग्रे रंग का कोट या स्वेटर होगा। सप्ताह में गुरुवार को पोशाक पहनने की छूट रहेगी।
निशुल्क विद्यालय गणवेश नहीं देकर गहलोत सरकार ने बचाए 425 करोड़ रुपए
निशुल्क विद्यालय गणवेश नहीं देकर गहलोत सरकार ने बचाए 425 करोड़ रुपए
कब-कब बदली विद्यालयी पोशाक
प्रदेश में 1996-97 से पहले छात्रों के लिए सफेद शर्ट और खाकी पेंट और छात्राओं के लिए सफेद सलवार कुर्ता था। वर्ष 1996-97 के बाद छात्रों के लिए आसमानी शर्ट, खाकी नेकर-पेंट और छात्राओं के लिए आसमानी कुर्ता, सफेद सलवार लागू किया था। वर्ष 2017 में छात्रों के लिए गहरे भूरे रंग की पेंट-नेकर, हल्के भूरे रंग के शर्ट और छात्राओं के लिए गहरे भूरे रंग की सलवार या स्कर्ट, हल्के भूरे रंग का कुर्ता लागू किया था।
कक्षा 9 से 12 के विद्यार्थियों पर पड़ेगा भार
सरकारी विद्यालयों में गरीब एवं मध्यम परिवारों के बच्चे अध्ययन करते हैं। हालांकि, कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों को तो सरकार निशुल्क पोशाक उपलब्ध करवाएगी, लेकिन कक्षा 9 से 12 के बच्चों को अगले सत्र में नई पोशाक सिलवानी पड़ेगी। इस वर्ष के आंकड़ों के अनुसार करीब 28 लाख विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। प्रति विद्यार्थी कपड़ा एवं सिलाई सहित 800 रु. भी लागत आंकी जाए तो करीब 225 करोड़ करोड़ का भार प्रदेश की गरीब जनता पर पड़ेगा।
पोशाक नहीं, सुविधाओं पर ध्यान दे सरकार
करीब 4 वर्ष पूर्व प्रदेश की भाजपा सरकार ने विद्यालयों की पोशाक को बदला था। ऐसे में 4 वर्ष में फिर से कांग्रेस सरकार द्वारा विद्यालयों में पोशाक बदलने से अभिभावक खासे नाराज हंै। अभिभावकों का कहना है कि बच्चों की पोशाक बार-बार बदलने से क्या होता है। पोशाक बदलने के स्थान पर सरकार विद्यालयों में भौतिक सुविधाएं एवं शिक्षक बढ़ाने पर ध्यान दे तो बच्चों का भला होगा ओर गरीब के बच्चे अच्छी शिक्षा हासिल कर पाएंगे।
निशुल्क विद्यालय पोशाक के खर्च का गणित
कक्षा ग्रुप /विद्यार्थी /खर्च राशि (करोड़ रु)
1-5/4548765 /272.92
6-8 /2536080 /152.16
कुल /7084845 /425.09
कक्षा गु्रप छात्र छात्रा
1-5. /2244552 /2304213
6-8./ 1241203 /1294877

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

भाजपा में कांग्रेसवादः कांग्रेस के वो चार नेता जिन्होंने BJP में शामिल होकर पाई मुख्यमंत्री की कुर्सीत्रिपुरा: डॉ. माणिक साहा बने त्रिपुरा के नए सीएम, राजभवन में ली शपथWeather Update: उत्तर भारत में भीषण गर्मी और उमस ने किया बेहाल, जानें कब होगी बारिशअसम में लगातार हो रही बारिश, कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात, हाफलोंग में भूस्खलन से 3 लोगों की मौतCongress Chintan Shivir 2022 : आज राहुल गांधी के भाषण पर निगाह, स्वीकार कर सकते हैं अध्यक्ष बनने का अनुरोध?Congress Chintan Shivir 2022 : आज बनेगा सामूहिक ड्रॉफ्ट, कांग्रेस कार्यसमिति करेगी निर्णयइमरान खान ने कहा मेरे खिलाफ देश के अंदर व बाहर हो रही हत्या की साजिशअमरीकाः न्यूयॉर्क के सुपरमार्केंट में गोलीबारी, 10 लोगों की मौत, जानिए पहले कब-कब हुए ऐसे हमले
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.