प्लाज्मा को लेकर आमजन में जागृति जरुरी

-जिले में अबतक कोरोना से ठीक व्यक्तियों में से 640 से अधिक ऐसे व्यक्ति हैं जो प्लाज्मा डोनेट कर सकते हैं

By: Aswani

Published: 21 Sep 2020, 06:52 PM IST

राजसमंद. कोरोना का दंश और प्रदेश में रोजाना बढ़ रहा है, और अभीतक देश प्रदेश में कई कोरोना के गम्भीर मरीजों का प्लाज्मा थैरेपी से सफल उपचार भी हुआ है, ऐसे में राजसमंद में कोरोना को मात देने वाले दानदाता भी प्लाज्मा डोनेट करना चाहते हैं, लेकिन उन्हें इसकी जानकारी नहीं है कि उन्हें प्लाज्मा कैसे देना है और कहां देना है? और कुछ लोगों में प्लाज्मा दान करने को लेकर भी अनभिज्ञता है। ऐसे में पत्रिका ने कुछ जानकारों से इस पर बात की तो सामने आया कि राजसमंद में अभीतक प्लाज्मा थैरेपी से उपचार नहीं शुरू हुआ है, उदयपुर में प्लाज्मा डोनेट किया जा सकता है।


ये डोनेट कर सकते हैं प्लाज्मा
विशेषज्ञों ने बताया कि वह व्यक्ति प्लाज्मा डोनेट कर सकता है जो पूर्व में कोरोना का शिकार हुआ हैं और अब स्वस्थ्य है। उसे ठीक हुए 28 दिन हो चुके हैं, उम्र 18 से 55 के बीच हैं, और उसका वजन 55 किलोग्राम से ज्यादा है। स्वयं को पिछले एक वर्ष में कोई रक्त नहीं चढ़ा हो। व्यक्ति किसी गंभीर बीमारी से पीडि़त नहीं हो। पुरुष हैं अथवा ऐसी महिला हैं जिसने अभीतक गर्भधारण नहीं किया है, तो आप अपना प्लाज्मा डोनेट कर सकते हैं। विभागीय आंकड़ों के अनुसार जिले में वर्तमान में ऐसे करीब 640 व्यक्ति हैं, जो प्लाज्मा डोनेेट कर सकते हैं।

ये प्लाज्मा डोनेट नहीं कर सकते
-वह व्यक्ति जिसमें कोविड़-19 कि पुष्टि नहीं हुई हो।
-जिसको ठीक हुए अभी 28 दिन पूरे नहीं हुए हों।
-प्रथम जांच पॉजिटिव आए हुए 4 माह से अधिक हो गए हों।
-18 साल से कम उम्र के बच्चे व 55 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति।
-जिनका वजन 55 किलो से कम हो।
-जिनका हिमोग्लोबिन साडे 12 ग्राम परसेंट से कम हो।
-वह महिला जिसने जीवन में कभी भी गर्भधारण किया हो।
-वह व्यक्ति जिसे पिछले 1 वर्ष में रक्त अथवा रक्त उत्पाद चढ़ा हो
-वह व्यक्ति जो किसी गंभीर बीमारी से पीडि़त हो। -जिसका पिछले 1 वर्ष में कोई जटिल ऑपरेशन हुआ हो।
-वे व्यक्ति जो सिरिंज या सुई के माध्यम से नशीले पदार्थ का सेवन करते हों।
-जो व्यक्ति जो किसी भी नशीले पदार्थ के लिए भौतिक रूप से आदि हो चुके हो।


प्लाज्मा डोनेट करने की प्रक्रिया
प्लाज़्मा लेने से पूर्व डोनर के रक्त में एंटीबॉडी, हीमोग्लोबिन, प्लेटलेट, प्रोटीन, हेपेटाइटिस, एचआईवी, मलेरिया व सिफीलिस की जांच की जाती हैं। जांच में सब कुछ सही पाए जाने पर डोनर द्वारा प्लाज़्मा डोनेशन की लिखित सहमति ली जाती हैं। इसके उपरान्त एफरेसिस मशीन के माध्यम से प्लाज्मा कलेक्ट किया जाता है, जिसमें अमूमन एक घंटा से सवा घंटा का समय लगता हैं। एक बार में डोनर के शरीर से 400 एमएल प्लाज्मा लिया जाता है। जिससे 200-200 एमएल की दो डोज बनाई जाती है। किसी भी स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में लगभग 4 से 7 लीटर तक ब्लड होता है। इस लिहाज से कलेक्ट किया प्लाज्मा व्यक्ति के शरीर में उपलब्ध कुल रक्त का 10 वां या 15 वां भाग होता है। कलेक्ट किया प्लाज्मा का अधिकांश भाग का पुन: निर्माण 24 घंटे के भीतर ही हो जाता है व 15 दिन बाद डोनर पुन: प्लाज्मा डोनेट करने की स्थिति में आ जाता है।


उदयपुर में कर सकते हैं डोनेट
राजसमंद के ब्लड बैंक में प्लाज्माफरेसिस की सुविधा उपलब्ध नहीं है। अगर कोई स्वच्छा से प्लाज्मा डोनेट करना चाहता है तो वह उदयपुर के महाराणा भूपाल राजकीय चिकित्सालय के ब्लड बैंक में कर सकता है।
डॉ. महावीर मीणा, ब्लड बैंक प्रभारी, राजसमंद


प्लाज्मा थैरेपी शुरू नहीं...
राजसमंद में अभीतक प्लाज्मा थैरेपी शुरू नहीं हुई है। हां हमारे पास ऐसे इंजेक्शन अवश्य हैं जो गम्भीर मरीजों को दिए जाते हैं। इनमें से कुछ इंजेक्शनों का हमने प्रयोग किया है।
-डॉ. कृपाशंकर, चिकित्सक, जिला चिकित्सालय राजसमंद


ज्यादा से ज्यादा लोागों को डोनेट करना चाहिए...
प्लाज्मा डोनेशन लगभग पूर्णतया हानि रहित होता है, कभी-कभी सैकड़ों में से एक व्यक्ति को हल्की थकान, कमजोरी की शिकायत हो सकती हैं, थोड़ी देर आराम करने से ये ठीक हो जाती है। प्लाज्मा डोनेट करने के बाद डोनर को अल्पाहार दिया जाता हैं व लगभग आधा घंटा आराम करना होता हैं। अगले चौबीस घण्टे ज्यादा से ज्यादा तरल खाद्य पदार्थ लेना चाहिए। कोई भी भारी वस्तु उठाने से या व्यायाम, खेल कूद से बचना चाहिए। अगले 24 घण्टे में वाहन ड्राइव नहीं करना चाहिए। अगले 24 घण्टे में अल्कोहल या कोई भी नशीले पदार्थ का सेवन नहीं करना चाहिए। अभी देश-प्रदेश में प्लाज्मा की आवश्यकता है ऐसे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्लाज्मा डोनेट करना चाहिए।
-राजकुमार दक, रक्तदान से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ता, राजसमंद

Aswani Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned