छह दिन बाद सुलझी हत्या, लूट की गुत्थी

पुलिस ने सेवाली में हुए ब्लाइंड मर्डर का किया खुलासा, तीन आरोपी गिरफ्तार
बरामदगी में जुटी पुलिस

By: Aswani

Updated: 24 Aug 2020, 07:50 PM IST

राजसमंद. राजनगर थाना क्षेत्र के सेवाली में १८ अगस्त को दिन दहाड़े हुई लूट और वृद्ध की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने ६ दिन में सुलझा दिया। मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है तथा लूट की सम्पत्ति की बरामदगी की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। बताया गया आरोपियों ने पहले योजना बनाई उसके बाद लूट की तथा पहचान के डर से वृद्ध की गला दबाकर हत्या कर दी।

यह हुई थी वारदात
पुलिस के अनुसार प्राथी दिलीपसिंह पुत्र उम्मेदसिंह ने रिपोर्ट दर्ज करवाई कि सेवाली रोड राजनगर में उसका मकान है। मकान में उसके पिता उम्मेदसिंह पुत्र धीरसिंह राव (75) घर पर थे। वह और उसकी मां दोनो महुडा में बहन से मिलने गए हुए थे। पीछे से अज्ञात बदमाशों ने घर में घुसकर पिता के हाथ पैर मुंह बांधकर अलमारी व बक्से से सोने व चांदी के जेवरात लूटकर हत्या कर दी। जिस पर पुलिस ने भारतीय दण्ड संहिता की धारा 302, 394, 449, 459 में प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया।

इन्हें किया गिरफ्तार
लूट और हत्या के मामले में राजनगर थाना पुलिस ने विक्रमसिंह पुत्र शिवसिंह, कालू पुत्र मोहनलाल श्रीमाली, मोहित पुत्र जगदीश चन्द सालवी, निवासी श्रीनाथ कॉलोनी नाथद्वारा को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से लूट की बरामदगी करने की कार्रवाई की जा रही है।

आठ टीमों का हुआ गठन
मामले की गम्भीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक भुवन भुषण यादव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश गुप्ता तथा पुलिस उप अधीक्षक गोपालसिंह भाटी के सुपरविजन में थानाधिकारी प्रवीण टांक के नेतृत्व में ८ टीमें गठित की गई। जिसमें थानाधिकारी थाना राजनगर, उप निरीक्षक पेशावर खां, सहायक उपनिरीक्षक श्यामलाल, हेड कॉस्टेबल सुरेश चन्द, शक्तिसिंह, हकीम खां, जलेसिंह, कॉस्टेबल थानाराम, बुधराम, महेन्द्र सिंह, गणपतलाल, इन्द्रचन्द, शिव शंकर, निर्मल, हम्मेरसिंह की आठ टीमें बनाई गई। खुलासे के बाद टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।

ऐसे दिया वारदात को अंजाम
पुलिस के अनुसार आरोपियों द्वारा दिन के समय मृतक के घर पर उम्मेदसिंह के अलावा और कोई नहीं होने तथा मृतक की पत्नी व लड़के के बाहर महुड़ा जाने की सूचना होने से मोटरसाईकिल से नाथद्वारा से रवाना होकर सेवाली चौराहे से होते हुए अन्नपूर्णा माता मंदिर जाने वाले रोड से मकान के पीछे से कच्चे रास्ते से उतरकर घर में घुसे। उम्मेदसिंह के हाथ-पैर व मुंह बांधकर मकान में रखे जेवर लूट लिए, उम्मेदंिसह के द्वारा आरोपियों की पहचान हो जाने की सम्भावना से गला दबाकर हत्या कर दी। आरोपी विक्रमसिंह मृतक के परिवाजनों से अच्छी तरह से परिचित था और उसे इस बात की पूरी जानकारी थी घर के सदस्य बाहर गए हैं तथा मृतक अकेला है।

Aswani Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned