आपदा में एकजुट हुआ राजसमंद, राहत के लिए बढ़े हाथ

- पूर्व विधायक बंशीलाल खटीक ने मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करवाई पेंशन
- पार्षद ने खाने के पैकट बंटवाए

राजसमंद. कोरोना की जंग में राजसमंद एकजुट है। जरूरतमंद और दिहाड़ी मजदूरों के लिए जहां प्रशासन खाने-पीने की सुविधा उपलब्ध करवा रहा है, वहीं इस मुहिम में भामाशाह भी पीछे नहीं हैं। कुछ भामाशाह जहां प्रशासन को राशि देकर सहयोग कर रहे हैं, वहीं कुछ सीधे तौर पर उन्हें सहायता कर रहे हैं।

इसी क्रम में राजसमंद के पूर्व विधायक बंशीलाल खटीक ने मंगलवार को एसडीएम कार्यालय पहुंचकर अपनी पेंशन करीब ३५ हजार रुपए मुख्यमंत्री आपदा कोष में जमा करवाई, ताकि मुसीबत की इस घड़ी में प्रदेश सरकार पीडि़तों की सेवा में इस राशि का उपयोग ले सके। इसी तरह राजसमंद नगर परिषद के पार्षद विजय बहादुर जैन ने स्वयं के खर्च से भोजन के पैकट बनवाकर बस स्टैंड क्षेत्र के गरीब परिवारों तथा बस्तियों में रहने वालों को बंटवाए। सभापति सुरेश कुमार पालीवाल, नेता प्रतिपक्ष अशोक टांक, पार्षद दीपक शर्मा ने कच्ची बस्तियों में जाकर राशन के पैकटों का वितरण किया। गांधी सेवा सदन के मंत्री महेन्द्र कर्णावट ने बताया कि संस्था ने भी मुख्यमंत्री रात कोष में 25 हजार रुपए की सहायता राशि भेजने का निर्णय किया है।


40 परिवारों में बांटी राशन सामग्री
पीपली आचार्यान. कोरोना वायरस की आपदा से बचाव के लिए किए गए लॉकडाउन के कारण जिला कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल के आदेशानुसार गरीब मजदूरों के घरों मे राशन एवं खाने पीने की व्यवस्था करवाने के संबन्ध में मंगलवार को ग्राम पंचायत पीपली आचार्यान में उपसरपंच मुकेश कुमावत ने पहल करते हुए करीब 40 परिवारों में 5 किलो आटा, दाल, तेल, शक्कर,चाय की पत्ती, नमक, हल्दी, चावल वितरण किया। इधर ग्राम पंचायत पीपली डोडियान के भामाखेड़ा में आर्थिक व शारीरिक रूप से अक्षम परिवारों को सरपंच संतोषी देवी प्रजापत द्वारा आटा, चावल, दाल, आलू, मिर्च आदि सामग्री प्रदान की गई। सरपंच प्रजापत ने बस्ती वालों को कोरोना के प्रति जागरूक भी किया।

Rakesh Gandhi Editorial Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned