आज बाहर नहीं, मन में ही जलाएं बुराइयों का रावण

नगर परिषद की ओर से बालकृष्ण स्टेडियम में नहीं होगा कार्यक्रम, देवगढ़, रेलमगरा, खमनोर, कुम्भलगढ़ में भी दहन स्थगित

By: jitendra paliwal

Published: 25 Oct 2020, 10:21 AM IST

राजसमंद. कोरोना महामारी के कारण आज विजयादशमी पर रावण दहन के आतिशी कार्यक्रम नहीं होंगे। देवगढ़ के करणीमाता मेला मैदान में हर साल लगने वाला दशहरा मेला भी स्थगित हो चुका है, वहीं नाथद्वारा में सांकेतिक दहन को छोड़कर रेलमगरा, खमनोर, कुम्भलगढ़, भीम, कुंवारिया जैसे बड़े कस्बों सहित गांवों में भी दहन के कार्यक्रम रोक दिए गए हैं।

इस साल कई तीज-त्योहार तो नहीं मनाए जा सके, तो दशहरे पर भी संक्रमण का साया है। कांकरोली के बालकृष्ण स्टेडियम में नगर परिषद की ओर से प्रतिवर्ष होने वाला आयोजन दशकों बाद नहीं होगा। मैदान में अब तक पुतले खड़े कर दिए जाते थे। दहन की तमाम तैयारियां एक दिन पहले तक पूरी हो जाती हैं, लेकिन स्टेडियम खाली पड़ा है। हर साल दहन व आतिशबाजी देखने सैकड़ों की तादाद में शहरवासी इकट्ठा होते हैं। परिषद की ओर से द्वारकाधीश मंदिर से भगवान श्रीराम की परिवार सहित सवारी निकलती है। मैदान में कई दिनों पहले ही रावण, मेघनाद और कुम्भकर्ण के पुतलों का निर्माण कर उन्हें खड़ा किया जाता है। आयोजन पर परिषद करीब सात लाख रुपए खर्च करती है।

जलाएं कोरोना से उपजे बुरे हालातों का रावण
इस साल कोरोना ने कई तरह के बुरे हालात पैदा कर दिए हैं, जिनके विरुद्ध आमजन के संकल्प को इस पावन मौके पर मजबूत करने का अवसर है। चूंकि बुराई पर अच्छाई के विजय का यह प्रतीक पर्व है, ऐसे में कोरोनाकाल में मानव जाति पर बढ़े संकट पर नियंत्रण और जीत का जज्बा दिखाने का उत्सव बना दें।

मन में जलाएं दशानन के ये 10 मुण्ड
1. बेरोजगारी से उपजी स्थिति में जरूरतमंद की मदद करेंगे।
2. समाज में बढ़ते अपराधों पर नियंत्रण में हपना हरसम्भव सहयोग करेंगे।
3. रोगों से लडऩे के लिए जागरूक रहकर अपना व परिवार का ध्यान रखेंगे।
4. असहयोग की भावना को तिलांजलि देंगे।
5. निज स्वार्थ के वशीभूत न होकर सर्वजन हिताय की सोच को बढ़ाएंगे।
6. बढ़ते अविश्वास को घटाकर आपसी सौहार्द्र को कायम करेंगे।
7. किसी तरह के वैमनस्य को बढ़ावा देने वाली गतिविधियों में शामिल नहीं होंगे।
8. कोरोनाकाल में प्रभावित हुई बच्चों की शिक्षा के लिए मदद करेंगे।
9. हर व्यक्ति को भोजन और बीमार को इलाज मिले, यह काम सामाजिक स्तर पर भी करेंगे।
10. अवसाद-तनाव के रावण को जलाकर मन पर नियंत्रण रखने का प्रयास करेंगे।

jitendra paliwal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned