जेके फैक्ट्री के द्वार पर नौगामा के ग्रामीणों का धरना, 22 घंटे में साढ़े 5 करोड़ का कारोबार प्रभावित

जेके फैक्ट्री के द्वार पर नौगामा के ग्रामीणों का धरना, 22 घंटे में साढ़े 5 करोड़ का कारोबार प्रभावित

Laxman Singh Rathore | Publish: Jun, 18 2019 12:12:29 PM (IST) Rajsamand, Rajsamand, Rajasthan, India

फैक्ट्री से सीधी पाइप लाइन डालकर जलापूर्ति की मांग पर अड़े है लोग

लक्ष्मणसिंह राठौड़ @ राजसमंद

जेके टायर फैक्ट्री से सीधी पाइप लाइन बिछाकर पानी दिलाने की मांग को लेकर दूसरे दिन मंगलवार को भी धरना जारी रहा। दोपहर 12 बजे तक 22 घंटे तक प्लांट बंद रहने से करीब 5 करोड़ 50 लाख रुपए का उत्पादन प्रभावित हुआ है। इधर, जिला प्रशासन द्वारा भी समझाइश करते हुए गांव में जलापूर्ति के अन्य प्रबंध का भरोसा दिलाया, मगर ग्रामीण सहमत नहीं हुए। ग्रामीणों के धरने पर बैठे रहने से न तो कार्मिक फैक्ट्री में जा पाए और न ही उत्पादन शुरू हो पाया। कानून एवं शांति व्यवस्था को लेकर अतिरिक्त पुलिस जाब्ता तैनात है।
मटकियां, चरू व बाल्टियां लेकर नौगामा के ग्रामीण सोमवार दोपहर से ही जेके टायर फैक्ट्री के मुख्य द्वार पर धरने पर बैठ गए। फैक्ट्री प्रबंधन व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। दिन ढलने के बाद काफी तादाद में लोग वापस गांव लौट गए, मगर प्रतिनिधि के तौर पर करीब सौ से ज्यादा ग्रामीण रातभर धरना स्थल पर ही डटे रहे। मंगलवार सुबह 6 बजे ही शिफ्ट में भी श्रमिक व कार्मिक पहुंचे, मगर मुख्य द्वार पर ग्रामीणों के धरने के चलते वे फैक्ट्री में प्रवेश ही नहीं कर पाए। धरने पर बैठे लोगों ने मौके पर ही चाय, नाश्ता बनाया और भोजन बनाकर खाया।

एमओयू से 16 फीसदी पानी की खपत
राज्य सरकार से एमओयू के मुकाबले जेके टायर फैक्ट्री द्वारा वर्तमान में सिर्फ 16 फीसदी पानी ही लिया जा रहा है। शेष पानी झील में ही रिजर्व है। फैक्ट्री को जो पानी मिल रहा है, वह एमओयू के तहत है, जहां से किसी भी गांव को जलापूर्ति नहीं की जा सकती। यह एमओयू की शर्तो के विरुद्ध है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned