केन्द्रीय वस्तु व सेवाकर एवं सीमा शुल्क अधीक्षक को रिश्वत की राशि के साथ पकड़ा

- राजसमंद व उदयपुर एसीबी की कार्रवाई
- आवास पर मिला डेढ़ किलो सोना व लाखों की नकदी

By: Rakesh Gandhi

Published: 25 May 2020, 08:26 PM IST

नाथद्वारा. ट्रांसपोर्ट व्यवसायी द्वारा ग्रेनाइट भरे ट्रक का चालान बना गाड़ी छोडऩे को लेकर उदयपुर के केन्द्रीय वस्तु व सेवाकर एवं सीमा शुल्क अधीक्षक को एएसपी राजेश चौधरी के नेतृत्व में राजसमंद एसीबी की टीम ने रिश्वत की राशि के साथ पकड़ लिया। इसके बाद एसीबी उदयपुर की टीम ने उदयपुर के भोपालपुरा स्थिति उसके आवास पर जांच की और वहां से टीम को साढ़े १३ लाख रुपए नकद, डेढ़ किलो सोना, २५ लाख रुपए के फिक्स डिपोजिट मिला है।
टीम ने यह कार्यवाही रिश्वत लेकर उदयपुर जाते समय कार को रूकवाकर की।
जानकारी के अनुसार ट्रांसपोर्ट व्यवसायी की ट्रांसपोर्र्ट कंपनी राजनगर में स्थित है, जिसके द्वारा गत २२ मई को गुजरात पासिंग एक ट्रक में नाथद्वारा के करजिया क्षेत्र में स्थित फर्म भैरूनाथ मार्बल एंड ग्रेनाइट भरकर राजकोट रवाना किया था। इस पर उदयपुर के केन्द्रीय वस्तु व सेवाकर एवं सीमा शुल्क अधीक्षक उदयपुर के भूपालपुरा निवासी श्यामसुंदर जैन ने नाथद्वारा के समीप नेगडिय़ा टोल नाके पर ट्रक को रूकवा कर चालान बना दिया। इस पर परिवादी द्वारा अगले दिन २३ मई को चालान राशि २८ हजार २0४ रुपए ऑनलाईन जमा करवा दिए। उसके बावजूद भी अधीक्षक जैन द्वारा गाड़ी छोडऩे एवं कागजात लौटाने की एवज में २० हजार रुपए की मांग की। इस पर परिवादी द्वारा निवेदन करने पर मामला १५ हजार में निपटाने पर सहमति हुई।
इसके बाद परिवादी ने २३ मई को ही इस पूरे प्रकरण की शिकयात एसीबी राजसमंद को दी, जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश चौधरी के नेतृत्व में सोमवार को अपराह्न ढाई बजे उदयपुर व राजसमंद के बीच स्थित नेगडिय़ा टोल नाके के पास आरोपी श्यामसुंदर जैन द्वारा परिवादी से रिश्वत की राशि लेकर अपने कार्यालय के वाहन से उदयपुर की ओर जाते हुए पीछा किया एवं जिले की सीमा समाप्ति के पहले स्थित अनंता अस्पताल के पास गाड़ी रूकवाकर पकड़ लिया। उसके पास से रिश्वत की राशि १५ हजार रुपए भी जैन की पेंट की दाहिनी जेब से बरामद कर लिए गए।

आवास पर मिली करोड़ों की सम्पत्ति
राजमसंद. केन्द्रीय वस्तु व सेवाकर एवं सीमा शुल्क अधीक्षक पर हुई कार्रवाई के बाद एंटी करप्शन ब्यूरो उदयपुर की टीम ने उदयपुर के भोपालपुरा स्थिति उसके आवास पर जांच की। यहां से टीम को साढ़े १३ लाख रुपए नकद, डेढ़ किलो सोना, २५ लाख रुपए के फिक्स डिपोजिट मिला है। जो नकद राशि मिली, वह कई अलग-अलग लिफाफों में बंद थी। कुछ लिफाफों में अलग-अलग नाम भी लिखे थे। अब टीम ये जांच करने में जुटी है कि जो नकद राशि मिली है वह रिश्वत की है या नहीं। उदयपुर ब्यूरो के एसएसपी सुधीर जोशी ने बताया कि वे हर पहलू पर जांच कर रहे हैं।

Rakesh Gandhi Editorial Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned