पुलिस समझ रही थी 40-45 साल का व्यक्ति, शिनाख्तगी में नाबालिक निकला!

खमनोर थाना क्षेत्र के झालों की मदार में कुएं में शव मिलने का मामला: नाथद्वारा का है किशोर

 

By: jitendra paliwal

Published: 22 Jul 2021, 12:21 PM IST

खमनोर. थाना क्षेत्र के झालों की मदार में कुएं में मिला शव पुलिस 40-45 साल के किसी व्यक्ति का मान रही थी, मगर चौथे दिन शिनाख्तगी में हुई तो शव नाथद्वारा की श्रीनाथ कॉलोनी के रहने वाले एक 16 वर्षीय किशोर का निकला है। पिता ने अपने बेटे की निशानियां देखकर शिनाख्त की। पुलिस की जांच पिछले चार दिन से शिनाख्तगी पर अटकी हुई थी और इसकी बड़ी वजह कुएं के पानी में तीन-चार दिन पुराने शव की सही उम्र का अनुमान लगाने में हुई गफलत रही। पुलिस ने पहले ही दिन हत्या का मामला दर्ज कर लिया था। अब आगे की जांच का रास्ता साफ हो गया है और दावा किया जा रहा है कि पुलिस जल्दी ही इस मामले का खुलासा करेगी।

थानाधिकारी कैलाशसिंह ने बताया कि झालों की मदार में कुएं में मिले शव की पहचान नाथद्वारा शहर की श्रीनाथ कॉलोनी निवासी मनीष (16) पुत्र जगदीश वाल्मिकी के रूप में हुई है। हालांकि पुलिस का यह भी कहना है कि दस्तावेजों में उम्र 16 वर्ष बताई गई है, जबकि वास्तविक उम्र 20 से 22 वर्ष के बीच थी। पुलिस ने बताया कि किशोर 14 जुलाई को घर से निकला और लापता हो गया था। परिजनों ने लापता नाबालिग की 17 जुलाई को को नाथद्वारा थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। 18 जुलाई को झालों की मदार में विकलाई नाड़ी के पास एक कुएं में शव मिला था। पुलिस तब से शव की शिनाख्त कराने में लगी रही, लेकिन बुधवार को सफलता मिला। नाथद्वारा अस्पताल की मोर्चरी में शव को डीप फ्रिज में सुरक्षित करवाया था। बुधवार शाम को पुलिस के बुलावे पर नाबालिग के पिता जगदीश ने मोर्चरी में शव को देखा और दाएं हाथ में स्टील के कड़े एवं इसी हाथ की अंगुली में चोट के निशान से अपने बेटे के रूप में पहचान की। मृतक की पहचान पुष्ट होने पर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया।

जांच में खुलेगा राज, हत्या किसने की
पुलिस अब किशोर की हत्या का राजफाश करने के लिए जांच में जुट गई है। शव की पहचान होने से पुलिस के लिए आगे की जांच की राह थोड़ी आसान जरूर हुई है, लेकिन जिस तरह हत्या की गई और शव को ठिकाने लगाया, उससे साफ है कि बदमाशों ने वारदात को बहुत शातिराना तरिके से अंजाम दिया। नाथद्वारा निवासी किशोर के लापता होने के पांचवे दिन उसकी लाश शहर से करीब 20 किलोमीटर दूर झालों की मदार गांव के बाहर कुएं में मिली।

किशोर और कुएं का कनेक्शन संयोग!
हत्या के इस मामले में मृतक किशोर और कुएं का कनेक्शन महज एक संयोग है या किसी सोची समझी साजिश के तहत हत्या की वारदात की ओर इशारा कर रहा है, यह तो पुलिस की जांच में ही सामने आएगा। मगर ये संदेहास्पद ही है कि नाथद्वारा की श्रीनाथ कॉलोनी में रहने वाला किशोर शहर के वाल्मिकी समाज के एक परिवार का सदस्य है। जबकि झालों की मदार में विकलाई तलाई के पास जिस कुएं में यह शव मिला, वह भी स्थानीय लोग वाल्मिकी समाज का कुआं होना बताते हैं।

jitendra paliwal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned