कांकरोली के लोगों का सेवाभाव सराहनीय

- कोई मास्क बनाकर बांट रहा तो कोई पानी
- कालाबाजारी से पहुंची मन को ठेस

राकेश गांधी
राजसमंद. बाजार में मास्क आदि की कालाबाजारी की खबरों से व्यथित कुछ लोगों ने अपने घर में रहकर समय का सदुपयोग करते हुए पुनीत कार्य करने की ठानी है। एडवोकेट पूजा व मोरचना के टेलर कमलेश जहां लोगों को मास्क बनाकर नि:शुल्क वितरित कर रहे हैं, वहीं देवेन्द्र कुमावत सड़कों पर ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों के लिए मिनरल पानी की बोतलें सुलभ करवा रहे हैं। यहीं नहीं, जहां पुलिसकर्मी खड़े हैं, वहां आसपास रहने वाले लोग भी कभी पानी तो कभी चाय पुलिसवालों को भेज रहे हैं। इससे कांकरोली के लोगों की सहृदयता देखने को मिल रही है।

पूजा का संकल्प, सभी के पास हो मास्क
अभी अदालतों का काम भी प्राय: ठप है। ऐसे में पेशे से वकील पूजा उपाध्याय अपने समय का सदुपयोग करते हुए कुछ नवाचार में जुटी हैं। वे अपने घर में ही फ्रेश कपड़े से मास्क बनाकर नि:शुल्क वितरित कर रही हैं। पूजा बताती है कि वे अब तक एक हजार से ज्यादा मास्क बनाकर वितरण करवा चुकी है। उन्होंने ये मास्क फ्रेश कपड़ों से बनाए हैं। इसके लिए उन्हें कुसुम उपाध्याय, सजना पुरोहित, पूनम कुशवाहा, गुडिय़ा शर्मा व खुद उनकी नन्ही बिटिया का भी सहयोग मिल रहा है। उन्होंने काफी मास्क नगरपरिषद व पुलिस को भी सुलभ करवाएं हैं। नगरपरिषद इन दिनों बस्तियों में खाने के पैकेट के साथ इन मास्क का वितरण कर रही है।

जेके मोड़ के पास रहने वाली पूजा ने बताया कि पास के वणई गांव में भी ये मास्क बनाकर भिजवाए गए हैं। जब उन्होंने सुना कि मास्क ब्लैक में बेचे जा रहे हैं, तो उन्होंने ये काम शुरू किया। उन्होंने तय किया है कि जब तक जरूरत पूरी नहीं हो जाती, ये मास्क बनाए जाते रहेंगे और ऐसे ही नि:शुल्क वितरित किए जाते रहेंगे। उन्होंने अपने साथ काम करने वाली सहयोगियों के लिए घर पर ही सेनेटाइजर भी बनाया है, ताकि वे इसका उपयोग करते हुए मास्क बनाने का काम करे। इससे उनके आसपास भी इस वायरस के फैलने का खतरा नहीं रहेगा तथा मास्क भी फ्रेश रहेंगे।

कमलेश भी बांट रहे हैं मास्क
मोरचना में पेशे से कपड़े सिलाई का काम करने वाले कमलेश कुमावत भी पिछले कुछ दिनों से फ्रेश सूती के कपड़ों से मास्क बना कर लोगों को बांट रहे हैं। वे अब तक मोरचना व पसूंद क्षेत्र में 500 से ज्यादा मास्क बनाकर बांट चुके हैं। उन्होंने बताया कि जब ये सुना की कुछ लोग चार-पांच रुपए के मास्क के इस विषम परिस्थिति में भी लोगों से चालीस-पचास रुपए ले रहे हैं, तो उन्हें बड़ा धक्का लगा। इस पर उन्होंने इसे खुद ही बनाकर नि:शुल्क बनाकर वितरित करने का निर्णय किया। उनका कहना है कि वे ये काम आगे भी जारी रखेंगे।

देवेन्द्र वितरित कर रहे मिनरल वाटर
कांकरोली के व्यवसायी देवेन्द्र कुमावत भी सेवा कार्य से पीछे नहीं है। वे इन विषम परिस्थितियों में सड़कों पर खड़े रहकर लोगों को घर में रहने की अपील कर रहे पुलिसकर्मियों को पानी की बोतलें वितरित करते दिखे। उन्होंने कई जगह घूमकर पुलिसर्मियों व अन्य को पानी की बोतलें दी।

Rakesh Gandhi Editorial Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned