सीपी जोशी के 'घर' में क्यों मच रहा है कोहराम?

नाथद्वारा पालिका में हुए घटनाक्रम की चौतरफा चर्चाएं

By: jitendra paliwal

Published: 05 Mar 2021, 12:15 PM IST

नाथद्वारा. नगरपालिका में गत सोमवार को सत्तापक्ष की महिला पार्षदों के पति व आयुक्त के बीच हुए विवाद की शहर में दो दिन से खासी चर्चा है। मंगलवार और बुधवार को लोगों ने आपसी बातचीत में स्थानीय विधायक डॉ. सीपी जोशी की कोशिशों के बावजूद ऐसे हालात को चिंताजनक बताया।

लोगों ने कहा कि सत्तापक्ष के पार्षद एवं महिला पार्षदों में कार्यों को लेकर उपजे असंतोष पर कई तरह के कयास लगाए। एक पार्टी कार्यकर्ता ने तो यहां तक कहा कि पालिका में बहुमत होने के बावजूद पार्षदों के कार्य नहीं हो रहे हैं तो विपक्ष कितनी भूमिका कहां निभा रहा होगा? कुछ राजनीतिक जानकारों ने विपक्ष की भूमिका को भी महत्वपूर्ण बताया तथा समय का इंतजार करने को कहा। कुछ प्रबुद्धजनों ने इस बात पर आश्चर्य जताया कि डॉ. सीपी जोशी खुद शहर के विकास की पहल कर रहे हैं, उसके बावजूद जनप्रतिनिधि या कुछ अधिकारी अपनी नीति लागू करने की मंशा में है, जिससे आपसी सामंजस्य नहीं बैठ पा रहा है। लोगों ने चिंता जताई कि क्या पूरे पांच साल ऐसे ही गुजरेंगे।
नगरपालिका में कांग्रेस का बोर्ड बनने के बाद से ही विधायक जोशी बैठकों में खुद भाग लेते हैं। शहर के विकास की योजनाओं को भी उन्होंने रखा।

युवक का नाम क्यों जोड़ा?
आयुक्त ने पालिकाध्यक्ष के साथ रहने वाले युवक यशप्रताप सिंह के खिलाफ भी पार्षदपतियों के साथ नाम के साथ पुलिस में शिकायत की। उसकी भी खासी चर्चा है। गत वर्ष ७ सितंबर को भी आयुक्त ने दो व्यक्तियों के पालिका के बैठक हॉल में आने को लेकर पुलिस थाने में राजकार्य में बाधा एवं अभद्र भाषा के उपयोग का मामला दर्ज करवाया था। उस वक्त भी यशप्रताप सिंह नाम के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई थी। उसके विरुद्ध दूसरी बार रिपोर्ट दी गई है।
गौरतलब है कि गत सोमवार को चार पार्षदपतियों का विकास कार्यों को लेकर आयुक्त से विवाद हो गया। उसके बाद पुलिस में आयुक्त ने रिपोर्ट दी। पुलिस जांच कर रही है।
---
मुझे आश्चर्य है कि मेरे साथ के व्यक्ति का कोई दोष नहीं है, फिर भी उसे टारगेट किया गया। मैंने इस बारे में आयुक्त को फोन किया, मगर उन्होंने नहीं उठाया।
मनीष राठी, पालिकाध्यक्ष, नाथद्वारा
--
विधानसभा अध्यक्ष डीएमएफटी का पैसा ला रहे हैं। नगरपालिका अध्यक्ष की विकास की सोच नहीं होने से शहर में उसका सदुपयोग नहीं कर पा रहे हैं, यह सोचनीय है।
विनोद उपाध्याय, वरिष्ठ भाजपा पार्षद

jitendra paliwal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned