बंदरों को बंधक बनाने वालों पर होगी कार्रवाई

वन विभाग कराएगा एफआईआर
चिन्हीकरण का कार्य हुआ शुरु

By: shivmani tyagi

Updated: 17 Jun 2021, 07:10 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
रामपुर.बेजुबान बंदरों ( Monkeys ) को अब मदारी बंदी नहीं बना सकेंगे। वन विभाग इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएगा। विभाग ने ऐसे लोगों को चिन्हित करना शुरू कर दिया है जो बंदरों को बंधक बनाकर उनसे करतब करवाते हैं। वन्यजीवों को बंधक बनाया जा सके इसके लिए कानून है लेकिन अभी तक वन विभाग के अफसर इस ओर उदासीन बने हुए थे। अब पत्रिका ने लापरवाही को उजागर किया है तो वन विभाग के अफसरों की नींद भी खुली हुई नजर आ रही है।

यह भी पढ़ेंं: गांव-गांव लगेंगी जल पाठशाला बच्चे सीखेंगे जल सरंक्षण का पाठ

रामपुर जिले की कोतवाली सिविल लाइंस इलाके में रहने वाले कुछ घुमंतू परिवारों ने दर्जनों बंधुओं को बंधक बना रखा है। बंदरों को बंधक बनाने वाले यह परिवार मूल रूप से बरेली के रहने वाले हैं। बरेली में इनका घर है लेकिन यह लोग घुमंतू प्रवृत्ति के हैं और प्रदेश के अलग-अलग जिलों में जाकर के बंदरों का गांव गांव में खेल दिखाते हैं। इससे जो पैसा या अनाज मिलता है उसी से अपने परिवार की जीविका को चलाते हैं। यह लोग जंगलों से कुछ बंदरों को पकड़ लेते हैं।।उन बंदरों को पकड़कर कुछ ऐसी चीजें सिखाते हैं जिससे गांव गांव में लोगों को खेल दिखाकर कुछ पैसा मिल जाए। इसी तरह से यह लोग अपने परिवार की जीविका को चला रहे हैं।

यह भी पढ़ेंं: दिनदहाड़े बदमाशों ने रिटायर्ड बैंक कर्मी के घर बोला धावा, दंपति को बेरहमी से पीटकर की लूटपाट

इन परिवारों का कहना है कि हम क्या करें पुरखों से यही काम चला आ रहा है। रामपुर जिला वन अधिकारी से जब इस बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों के खिला कार्रवाई होगी जो बंदरों को बंधक बनाकर बांधे हुए हैं। बहुत जल्द इन मदारियों के कब्जे से बंदरों को आजाद कराया जाएगा। अब कानून बन गया है। कोई भी जंगली जानवर को बंधक नहीं बना सकता।

यह भी पढ़ेंं: कोरोनाकाल में अनाथ हुईं कानपुर की मासूम बच्चियां पहुंची कॉमेडियन राजू के मुम्बई आवास, फिर इस तरह मिली खुशी

यह भी पढ़ेंं: अयोध्या जमीन विवाद को लेकर सियासी गलियारों में बढ़ी तपिश, अखिलेश, संजय के बयान पर केशव व साक्षी का पलटवार

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned