भारत-चीन बॉर्डर पर तैनात सेना के जवान की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत

साेमवार काे रामपुर में राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा सैनिक के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार

By: shivmani tyagi

Updated: 23 Aug 2020, 09:59 PM IST

रामपुर ( rampur ) भारत-चीन बॉर्डर ( Indo-CHina border ) पर तैनात सेना के जवान (Army soldier ) की सांस लेने में परेशानी हाेने के कारण अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। रविवार रात सेना के जवान का शव दिल्ली लाया जाएगा। साेमवार सुबह जवान का पार्थिव शरीर पैतृक गांव रामपुर के बादली टांडा पहुंचने की उम्मीद है। जिला प्रशासन ने भी सेना के जवान का दाहसंस्कार कराने के लिए राजकीय सम्मान की तैयारी पूरी ली है।

यह भी पढ़ें: सेना के जवान को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई, मंत्री समेत डीएम और एसएसपी भी पहुंचे

एसडीएम टांडा ने बताया कि सेना के जवान की मौत की खबर मिली परिजनाें काे दी गई है। रविवार रात तक राजधानी दिल्ली में उनका शव पहुंचेगा। दिल्ली से सुबह यहां जैसे ही उनका शव आएगा पूरे राजकीय सम्मान के साथ सेना के जवान को अंतिम विदाई दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: परिवहन मंत्री के बिगड़े बाेल, भरी पंचायत में मंत्रियों के पद काे लेकर कर दी टिप्पणी, देखें वीडियो

सेना के जवान मुकेश बाबू मूल रूप से रामपुर के रहने वाले थे। इनकी बटालियन के एक अधिकारी के फोन कॉल परिजनाें काे मौत की सूचना मिली तो परिवार में कोहराम मच गया। घर से लेकर गांव और गाँव से लेकर जिले के प्रशासन में सेना के जवान की मौत को लेकर शोक की लहर है।

यह भी पढ़ें: कार से शराब तस्करी करने वाला शराब तस्कर गिरफ्तार, 10 पेटी शराब बरामद

सेना के जवान मुकेश बाबू आर्टिलरी डिपार्टमेंट में थे और चीन भारत के बॉर्डर पर तैनात थे। भारत चीन के तनाव के बाद उनकी तैनाती वहां से हटाकर भगोचूना सेक्टर में ऊंचाई वाले 4310 पाइंट वाले स्थान पर कर दी गई। बताया गया है कि, सांस लेने में दिक्क्क्त हुई उसी दिक्क्क्त को लेकर उन्हें एक अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी मौत हो गई।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned