भाजपा विधायक के खिलाफ कोर्ट की बड़ी कार्यवाही, बगैर अनुमति जनसभा के मामले मेंं गिरफ्तारी वारंट जारी

आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के एक मामले में रामपुर जिले की मिलक-शाहबाद विधानसभा सीट से भाजपा विधायक राजबाला के खिलाफ एमपी-एमएलए कोर्ट ने जारी किए गैर जमानती वारंंट।

By: lokesh verma

Published: 21 Jul 2021, 03:01 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
रामपुर. आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के एक मामले में रामपुर जिले की मिलक-शाहबाद विधानसभा सीट से भाजपा विधायक राजबाला के खिलाफ एमपी-एमएलए कोर्ट ने बड़ी कार्यवाही की है। कोर्ट ने 2017 के चुनाव में बगैर अनुमति जनसभा करने पर भाजपा विधायक के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किए हैं। बता दें कि उस दौरान भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहीं राजबाला के खिलाफ 11 फरवरी 2017 को आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का केस दर्ज किया था। उस चुनाव में जीतकर वह भाजपा की वर्तमान विधायक हैं।

यह भी पढ़ें- योगी सरकार का बड़ा फैसला, अब बिना अनुबंध नहीं रख सकेंगे किराएदार, जारी किए ये नए नियम

जानकारी के अनुसार, राजबाला ने 11 फरवरी 2017 को प्रशासन की अनुमति के बगैर धमोरा में जनसभा की थी। उस दौरान तत्कालीन दरोगा जितेंद्र वर्मा ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। मुकदमे में विवेचना के बाद कोर्ट में पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की थी। गिरफ्तारी से बचने के लिए विधायक राजबाला ने जमानत तो करवा ली थी, लेकिन जमानत के बाद सुनवाई के लिए कोर्ट में पेश नहीं हुईं। इसको लेकर पहले एमपी-एमएलए कोर्ट ने समन जारी किए और उसके बाद अब गैर जमानती वारंट जारी कर दिए हैं।

भाजपा विधायक राजबाला का कहना है कि उन्होंने पहले ही जमानत करा ली थी, लेकिन उन्हें वारंट की जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि वह अदालत का पूरा सम्मान करती हैं। अपने अधिवक्ता से बात कर पूरी जानकारी लेंगे और अदालत के आदेश का पालन किया जाएगा। नियमों के तहत प्रक्रिया पर अमल किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- मुनव्वर राणा के '..तो यूपी छोड़ दूंगा' वाले बयान पर योगी के मंत्री की विवादित टिप्पणी, सोशल मीडिया पर हो रहा ट्रेंड

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned