बड़ी खबर: आजम खान ने डीएम से बताया जान का खतरा, बोले डीएम के पास है हैकिंग मशीन

बड़ी खबर: आजम खान ने डीएम से बताया जान का खतरा, बोले डीएम के पास है हैकिंग मशीन

Jai Prakash | Publish: May, 14 2019 05:49:49 PM (IST) Rampur, Rampur, Uttar Pradesh, India

-रामपुर प्रशासन से अपनी जान का खतरा बताया है।

-मतगणना वाले दिन कफ्र्यू जैसा माहौल कर मतगणना में धांधली करना चाहता है।

रामपुर: मतगणना से ठीक पहले समाजवादी पार्टी नेता और रामपुर से लोकसभा उम्मीदवार आज़म खान ने एक बार फिर रामपुर प्रशासन पर बड़ा सवाल उठाया है। उन्होंने रामपुर प्रशासन से अपनी जान का खतरा बताया है। उन्होंने कहा कि प्रशासन मतगणना वाले दिन कफ्र्यू जैसा माहौल कर मतगणना में धांधली करना चाहता है। आज़म खान ने ये आरोप आज मीडिया के सामने आकर खुद लगाए।

यूपी का ये जिला बना देश का सबसे प्रदूषित शहर, लोगों का हुआ बुरा हाल, देखें वीडियो

डीएम से जान का खतरा

आजम खान ने कहा कि अपर जिलाधिकारी ने मुझ से जान का खतरा बताते हुए पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखा है, यह एक पेशबंदी है। प्रशासन ने हमारे शस्त्रों के लाइसेंस भी निलंबित कर दिए हैं। ऐसे हथियार रखने से क्या फायदा जो शोपीश बने हों। हमने अपने, अपनी पत्नी और बेटे के लाइसेंसी असलहा बेचने का फैसला किया है। इसके लिए कमिश्नर से परमीशन मांग रहे हैं। परिवार में पांच शस्त्र हैं।

पिता से नाराज बेटे ने रेलवे स्टेशन पर पहुंचकर किया ऐसा काम, परिवार में मचा हड़कंप- देखें वीडियो

 

ये लगाया आरोप

आजम खान ने मंगलवार को मीडिया से यह बात कही। इस दौरान आरोप लगाते हुए कहा कि प्रशासन द्वारा लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाई गई हैं। दो महीने के अंदर प्रशासन ने ऐसे काम कर दिए हैं जो कभी नहीं हुए। लोगों को डरा धमका कर वोट डालने से रोका गया। 77 हजार लोगों को लाल कार्ड जारी कर दिए गए। जिला प्रशासन मतगणना में भी धांधली कराने की पूरी कोशिश कर रहा है। जिलाधिकारी के पास हैकिंग मशीन है। डीएम की चौकड़ी में जो एक अपर जिलाधिकारी हैं, उन्होंने मुझसे जान का खतरा बताते हुए एसपी को पत्र लिखा है। उनका यह पत्र पेशबंदी है, दरअसल प्रशासन मेरी हत्या कराना चाहता है।

Video: उत्‍तर प्रदेश पुलिस के इस इंस्‍पेक्‍टर की सुरक्षा में लगानी पड़ी फोर्स, जानिए क्‍यों

इतने मुकदमे दर्ज करवाए

आजम खान ने बताया कि जिला प्रशासन ने चुनाव के दौरान उनके खिलाफ 16 मुकदमे दर्ज कराए, जिनमें से पांच मुकदमों पर हाई कोर्ट ने आज सुनवाई की , इनमें हमारी गिरफ्तारी पर स्टे दे दिया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned