सेना के जवान की अंतिम यात्रा में शामिल हुए हजारों लोग, पार्थिव शरीर पहुंचते ही बरसने लगे फूल

Highlights

-अरुणाचल प्रदेश में तैनात था जवान

-सांस लेने में हो रही थी परेशानी

-दिल्ली के अस्पताल में ली अंतिम सांस

By: Rahul Chauhan

Published: 25 Aug 2020, 11:26 AM IST

रामपुर। सेना के जवान को श्रधांजलि देने के लिए कोरोना काल में भी हजारों लोग अपनी जान को जोखिम में डालकर शव यात्रा में शामिल हुए। सेना के जवान की अंतिम यात्रा में सड़कें गाव की गलियां लोगों से खचाखच भरी थीं। कुछ लोगों ने अपने घरों की सड़क से ही उनकी अंतिम यात्रा पर फूल बरसाकर श्रद्धांजलि दी, तो वहीं योगी सरकार के मंत्री बलदेव सिंह ओळख समेत सेना के कई जवान उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हुए और सलामी देकर उनका दाहसंस्कार किया।

दरअसल, तहसील टांडा थाना क्षेत्र के बादली निवासी मुकेश बाबू का दो दिन पहले एक अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया था। वह भारत के अरुणाचल प्रदेश में मांगो चूना सेक्टर में तैनात थे। इलाज के दौरान अस्पताल में उनकी मौत हो गई । सोमवार को उनका शव पूरे सम्मान के साथ दिल्ली से गाँव आया तो लोग अपने घरों की छतों पर चढ़कर फूल बरसाने लगे। यूपी सरकार के जलशक्ति मंन्त्री बलदेव सिंह ओळख समेत सेना के कई अधिकारियों ने गाँव पहुंचकर उनकी अंतिम यात्रा में हिस्सा लिया बाद में उनका दाहसंस्कार किया।

सांस लेने में हुई थी दिक्कत

बता दें कि मुकेश 1851 लाइट रेजिमेंट के जवान थे। भारत और चीन के बीच पिछले दिनों तनातनी के बाद रेजीमेंट के जवानों को भारत के मांगो चूना सेक्टर में भेजा गया था। वहां पर उन्हें सांस लेने में दिक्क्क्त हुई इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई।

'मिलना चाहिए शहीद का दर्जा’

सेना के जवान की शहादत पर सेना के ही एक अधिकारी ने कहा सैनिक देश को सम्मानित करने के लिए देश की सेवा करता है। उनकी मौत भले इलाज के दौरान हुई हो पर उन्हें शहीद का दर्जा मिलना चाहिए।

यूपी सरकार के मंत्री बोले

जल शक्ति राज्य मंत्री बलदेव सिंह औलख ने कहा ठंड में,बरसात में अपने घर, मां बाप, बच्चों को छोड़कर जो हमारे जवान सरहदों पर हैं, हमें उन पर गर्व है। हमारे रामपुर का जो जवान शहीद मुकेश जिनका शव लाया गया है उससे पूरे एरिया में गम का माहौल है। शहीद यहीं पर खेला है और यहीं पर पला-बढ़ा है। अब उनका अंतिम संस्कार भी यहीं किया गया है। मैं शहीद परिवार के लिए सरकार की तरफ से सच्ची श्रद्धांजलि देता हूं।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned