गुलाब का फूल लेकर डीएम के पास पहुंचा किसान, बोला- आपकी वजह से मुनाफा हुआ है

डीएम की बात मानकर किसान ने गेहूं क्रिय केंद पर बेची फसल। वीडियो जारी कर अन्य किसानों से भी की अपील। किसान को समय से मिल गई फसल की कीमत।

By: Rahul Chauhan

Published: 20 Apr 2021, 03:00 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

रामपुर। एक किसान की थोड़ी सी आमदनी बढ़ी तो वह गुलाब का फूल लेकर डीएम के दफ्तर पहुंच गया। वहीं डीएम ने जब फूल देने का कारण पूछा तो उसने जो बताया उसे सुनकर डीएम भी खुशी से गदगद हो गए। इस दौरान डीएम किसान से बोले कि आप ये सन्देश जिले के बाकी किसानों को भीं दें, ताकि वह भी ज्यादा से ज्यादा आमदनी बढ़ाकर परिवार को अच्छे से पालें। इस दौरान डीएम की बात सुनकर किसान ने अपना एक वीडियो भी किसानों के नाम वायरल किया है।

यह भी पढ़ें: नया आदेश! होटल, रेस्टोरेंट और सड़क किनारे रेडी पटरी पर नहीं खा सकेंगे खाना, सिर्फ होगी होम डिलिवरी

दरअसल, वीडियो में किसान कह रहा है कि पिताजी के जमाने से हम हर बार गेहूं की फसल प्राइवेट लोगों को बेचा करते थे। लेकिन इस बार उन्होंने ऐसा नहीं किया। पिछले दिनों डीएम साहब हमारे खेत में आये और उस वक़्त में गेहूं की थ्रेसिंग करवा रहा था। डीएम साहब ने मुझे एक कागज पर नम्बर लिख कर दिया और कहा कि आप अपना गेहूं जितना भी बेचना चाहते हो गेहूं खरीद के लिए सरकारी क्रय केंद्र खोले गए हैं। आप वहां जाएं, कोई आपको सही दाम न दे पाए या गेहूं खरीद में आनाकानी करे तो आप तत्काल मुझे कॉल करके बताएं। लेकिन किसान के साथ ऐसा नहीं हुआ। जिसको लेकर वह उन्हें फोन कॉल करता। किसान का गेहूं क्रय केंद्र पर तुल गया और उसका पेमेंट भी अकाउंट में आ गया।

यह भी पढ़ें: यूपी में वीकेंड लॉकडाउन का ऐलान, शनिवार और रविवार रहेगी पूर्ण तालाबंदी, सिर्फ इन्हें रहेगी छूट

जानकारी के अनुसार किसान का नाम बुद्धसेन है। वह शाहबाद तहसील के गाँव किरा का रहने वाला है। उसके घर में कई बच्चे हैं। थोड़ी सी जमीन है और फसल का कुछ हिस्सा बेचकर अगली फसल की तैयारी करता है। बाकी फसल का हिस्सा अपने घर में रखता है। इस बार जब उसने फसल बेची तो उसे 9 हजार का अतिरिक्त फायदा हुआ। किसान के मुताबिक हर छह माह में धान हो या गेहूं सभी फसलों को प्राइवेट लोगों को ही बेचता था, पर उसने इस बार डीएम का कहना माना। जिससे उसे फायदा हुआ। अगर किसानों को फायदा चाहिए तो वह अपनी फसल को सरकारी क्रय केंद्र पर ही बेचें।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned