Rampur की रजा लाइब्रेरी में बेशकीमती पांडुलिपियां देख मंत्रमुग्ध हुई राज्यपाल आनंदीबेन पटेल

Highlights
- करीब साढ़े तीन घंटे तक रजा लाइब्रेरी में रही राज्यपाल आनंदीबेन पटेल
- रजा लाइब्रेरी के डायरेक्टर से की गुजराती में एक बढ़िया पुस्तक तैयार करने की बात
- बेहतर परफॉर्मेंस देने वाले साहित्यकारों को किया सम्मानित

रामपुर. उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल सोमवार सुबह 11 बजे रामपुर स्थित रजा लाइब्रेरी पहुंची। जहां उन्होंने करीब साढ़े तीन घंटे तक रजा लाइब्रेरी में रखी तमाम पांडुलिपियां और पुस्तकें देखीं। इस दौरान उन्होंने सभागार में सभा को संबोधित करते हुए इच्छा जताई कि रजा लाइब्रेरी के डायरेक्टर गुजराती में एक बढ़िया पुस्तक तैयार करके मुझे दें, ताकि मैं उसे गुजरात की लाइब्रेरी में रख सकूं। उन्होंने कहा कि रामपुर में अनोखी चीजें ही नहीं बल्कि बेशकीमती पांडुलिपियां हैं, जिनको देखना व समझना दुनिया के लिए बहुत जरूरी है।

यह भी पढ़ें- UP Board Exam 2020: 18 फरवरी से शुरू होगी परीक्षा, पेपर देने से पहले इन बातों का रखें ध्‍यान

इस दौरान राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने रजा लाइब्रेरी के लिए बेहतर परफॉर्मेंस देने वाले साहित्यकारों को सम्मानित किया। उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैंने शिक्षा जगत में सब पढ़ें-सब बढ़ें एक प्रोग्राम किया है, जो अलग-अलग शहरों में जारी हो रहा है। रामपुर पढ़े-रामपुर आगे बढ़े इसी तरह बाकी शहरों में अफसरों को यह सब करवाना है। उन्होंने कहा कि मैं जहां जाती हूं, वहां पढ़ने-पढ़ाने पर जोर देती हूं। मेरा यह मानना है कि बिना पढ़े-बिना लिखे किसी की भी तरक्की नहीं हो सकती है। छोटे बड़े सभी को मेरा यह कहना है कि सब दिल से पढ़ें, ताकि वह किसी भी क्षेत्र में अपना जीवन अच्छे से जी सकें।

बता दें कि रजा लाइब्रेरी में रखी पांडुलिपियों को देखकर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल इतनी मंत्रमुग्ध हो गई कि उनको काफी देर तक निहारती रहीं। उन्हें डायरेक्टर ने तमाम सारी चीजे भेंट की हैं, ताकि वह रामपुर की बेशकीमती पांडुलिपियों को देख सकें। रजा लाइब्रेरी के डायरेक्टर ने कहा कि 6 महीने के अंदर हम एक बढ़िया गुजराती पुस्तक तैयार कराएंगे, जिसमें तमाम पांडुलिपियों का जिक्र होगा।

यह भी पढ़ें- BKU ने किसानों की मांगों को लेकर शुरू किया अनिश्चितकालीन 'घेरा डालो-डेरा डालो' प्रदर्शन

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned