आजम खान और आले हसन के करीबी हेड कांस्टेबल को कोर्ट पहुंचने से पहले ही पुलिस ने दबोचा

Highlights
- यतीमखाना बस्ती प्रकरण में एक और गिरफ्तारी

- तत्कालीन सीओ आले हसन का गनर था धर्मेंद्र सिंह चौहान

- पुलिस ने लोगों से लूटे गए सामान भी किए बरामद

By: lokesh verma

Published: 27 Sep 2020, 11:55 AM IST

रामपुर. सीतापुर जेल में बंद समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान, उनकी पत्नी तंजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्लाह आजम खान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। आजम के करीबी सीओ आले हसन के बाद अब उनके एक और करीबी हेड कांस्टेबल धर्मेंद्र सिंह चौहान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने धर्मेंद्र सिंह चौहान को गिरफ्तार करने के बाद कोर्ट में पेश किया जहां से जेल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें- सुशांत राजपूत से प्रेरणा लेकर आगरा के छोरे ने चांद पर खरीदी जमीन

बता दें कि रामपुर के चर्चित यतीमखाना बस्ती प्रकरण में आजम खान के कई करीबियों के विरूद्ध केस दर्ज किए गए थे। थाना कोतवाली रामपुर में दर्ज इसी से जुड़े एक मामले में एटा जिले में रहने वाला हेड कांस्टेबल धर्मेंद्र सिंह चौहान भी वांछित था। हालांकि बाद में उसका ट्रांसफर शाहजहांपुर में हो गया था। अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह के अनुसार इस प्रकरण के दौरान धर्मेंद्र सिंह चौहान रामपुर में ही तैनात था। वह तत्कालीन सीओ आले हसन का गनर हुआ करता था।

बताया जा रहा है कि धर्मेंद्र सिंह चौहान न्यायालय में हाजिर होने पहुंचा था, जिसकी पुलिस को भनक लग गई और पुलिस ने उसे कचहरी के पीछे वाले गेट से गिरफ्तार कर लिया। अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह के मुताबिक, धर्मेंद्र सिंह चौहान के पास से पुलिस ने उस दौरान लोगों के घर से लूटे गए 100, 500 और 1000 हजार के नोटों के साथ कान के बूंदे, सीडी प्लेयर, सोने की चेन, चांदी की पायल आदि बरामद की हैँ।

यह भी पढ़ें- सेना से बर्खास्त जवान और उसके दोस्त ने किया था महिला से सामूहिक दुष्कर्म

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned