Rampur: इस IAS ने ईंट-भट्टों से छुड़ाए 50 बच्‍चे, अब कराएंगे पढ़ाई

Highlights

  • छह ईंट-भट्टों पर छापा मारकर छुड़ाया मासूम बच्‍चों को
  • भट्टों पर बंधुआ मजदूरी कर रहे थे बच्‍चे
  • चिल्‍ड्रेन वेलफेयर सोसायटी को दी गई बच्‍चों की जिम्‍मेदारी

By: sharad asthana

Updated: 01 Mar 2020, 12:59 PM IST

रामपुर। उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के रामपुर (Rampur) में तैनात आईएएस (IAS) अफसर गौरव कुमार ने शनिवार (Saturday) को 6 ईंट-भट्टों पर छापा मारकर 50 मासूम बच्चों को छुड़ाया। बच्‍चों को बंधुआ मजदूरी से मुक्‍त कराकर उन्‍होंने उनको पढ़ाने के आदेश दिए। साथ ही उन्‍होंने भट्टा संचालकों के खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज कराने की बात कही।

यह भी पढ़ें: 10वीं बार Noida आ रहे हैं मुख्‍यमंत्री योगी, 19 घंटे तक रहेंगे जिले में

पढ़ाई के सवाल पर यह बोले बच्‍चे

आईएएस अफसर गौरव कुमार ने शनिवार को सैदनगर ब्लॉक के 6 ईंट-भट्टा संचालकों के यहां अचानक छापा मारा। वहां काम कर रहे छोटे बच्चों को उन्‍होंने मुक्‍त कराया। कई बच्चों को गौरव कुमार ने अपनी गोदी में उठा लिया। जब उन्‍होंने बच्‍चों से पूछा कि आप यहां पर क्या करते हैं तो बच्‍चों ने कहा कि वे अपने माता-पिता के साथ यहां पर काम करते हैं। वे उनको ईंट बनाने में मदद करते हैं। वे मिट्टी के छोटे-छोटे गोले बनाकर तैयार करते हैं। उनको माता-पिता सांचे में भरते हैं और फिर उससे ईंट तैयार होती है। पढ़ाई के सवाल पर बच्‍चों ने कहा कि वे स्‍कूल नहीं जाते हैं। उनके माता-पिता कहते हैं कि स्कूल काफी दूर है। इस पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट गौरव कुमार ने कहा कि सड़कें बढ़िया हैं। रास्ते ठीक हैं। स्कूल भी पास में है। उन्‍होंने बच्‍चों के माता-पिता से कहा कि वे अपने बच्चों को ठीक से पढ़ाएं और उनको काबिल बनाएं।

यह भी पढ़ें: Noida: 35 करोड़ रुपये से बना है पुलिस कमिश्नर ऑफिस, आज सीएम योगी करेंगे उद्घाटन

29 बच्‍चों का कराया मेडिकल

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट गौरव कुमार ने बताया कि उन्‍होंने 50 में से 29 बच्चों का मेडिकल कराया है। चिल्‍ड्रेन वेलफेयर सोसायटी को इन बच्‍चों की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है। सोसाइटी इन्‍हें ठीक से पढ़ाएगी और इनको आगे बढ़ाने में मदद करेगी। साथ ही सोसायटी के सदस्‍य इनके माता-पिता पर भी नजर रखेंगे। श्रम विभाग उनकी रिपोर्ट तैयार कर रहा है। रिपोर्ट तैयार होते ही आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned