सांसद AZAM KHAN के करीबी सपा नेता पर हुआ मुकदमा दर्ज, जौहर ट्रस्ट को लेकर लगे गंभीर आरोप

Highlights

. सांसद आज़म खान के करीबी माने जाते है सपा नेता युसूफ मलिक
. जौहर ट्रस्ट को जमीन न देने पर जान से मारने के लिए फायर करने का लगा आरोप
. मुकदमा दर्ज कर जांच में जुटी

 

By: virendra sharma

Updated: 03 Dec 2019, 11:19 AM IST

रामपुर। सांसद आज़म खान के करीबी सपा नेता यूसुफ मालिक खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। आलियागंज के रहने वाले बन्ने ने यूसुफ मलिक पर जौहर ट्रस्ट को अपनी जमीन की रजिस्ट्री, जान से मारने की धमकी, गालियां देने और जान से मारने की नीयत फायर कुरने का आरोप लगाया था। पीड़ित की तहरीर पर पुलिस ने युसूफ मलिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।

यह भी पढ़ें: BCCI ने UP के 4 खिलाड़ियों को इंडियन टीम में किया चयनित, यह खिलाड़ी हो सकता है कैप्टन क्लब में शामिल

सपा नेता यूसुफ मलिक के खिलाफ़ दी तहरीर पर पुलिस ने जांच के लिए मुरादाबाद के सिविल लाइन थाने में उन्हें बुलाया था। हालांकि इस दौरान युसूफ मलिक ने पुलिस ने एकाउंटर करने का आरोप लगाया था। आलियागंज निवासी बन्ने ने बताया कि 24 नवंबर को सपा नेता यूसुफ मलिक अपने तीन साथियों के साथ मिलकर उनके पास पहुंचे और धमकी दी गई। बन्ने का आरोप है कि जौहर यूनिवर्सिटी के लिए जमीन देने से इंकार करने पर सपा नेता ने उनपर फायर कर दिया।

अधिकारियों का कहना है कि पीड़ित की तहरीर पर जांच के लिए पुलिस टीम मुरादाबाद गई थी। युसूफ मलिक मुरादाबाद के रहने वाले है और आजम खान के बेहद करीबी है। पुलिस का कहना है कि उन्होंने जांच में सपोर्ट नहीं किया। जिसके चलते उनपर मुकदमा दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें: BIG NEWS: पहले दो बच्चों को गला दबाकर मारा, फिर 8वीं मंजिल से पति संग दो पत्नियों ने लगा दी मौत की छलांग

सपा नेता यूसुफ मलिक ने आरोप लगाया है कि थाना अजीमनगर पुलिस ने थाना सिविल लाइन पूछताछ के लिए बुलाया गया था। उन्होंने कहा कि पुलिस एनकाउंटर करना चाहती थी। आरोप गलत लगाए गए है। उनका घटना से कोई लेना देना नही है।

virendra sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned