संसद में बोले आज़म खान,अपनी जुबान की वजह से जीता चुनाव

संसद में बोले आज़म खान,अपनी जुबान की वजह से जीता चुनाव

Jai Prakash | Publish: Jun, 18 2019 06:34:16 PM (IST) Rampur, Rampur, Uttar Pradesh, India

-आज़म खान का रुख संसद में भी वही दिखा।

-मोदी और भाजपा सरकार पर निशाना साधा।

-दूसरे लोगों के पास बाकी सब चीजें थीं।

रामपुर: नयी संसद का बजट सत्र चल रहा है, जिसमें सभी सांसदों को शपथ भी दिलाई जा रही है। वहीँ अपने तेवरों के लिए जाने वाले समाजवादी पार्टी नेता आज़म खान का रुख संसद में भी वही दिखा। शपथ के लेने के बाद आज़म ने इशारों ही इशारों में मोदी और भाजपा सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि उनके पास जुबान की ताकत थी इसलिए चुनाव जीत गए। यही नहीं ईवीएम पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब तक मशीन है तब तक सब कुछ मुमकिन है।

Patrika News @ 6pm: अचानक ताश के पत्तों की तरह बिखर गया दो मंजिला मकान,एक Click में पढ़ें पूरी खबर

रामपुर प्रशासन पर आरोप

अपने भाषण में आजम खान ने कहा, उन्हें कुदरत ने बहुत मजबूत जुबान दी है, बाकी चीजें नहीं दीं। जबकि दूसरे लोगों के पास बाकी सब चीजें थीं। उन्होंने कहा कि उनकी मजबूत जुबान की वजह से ही वो चुनाव जीत पाए। साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि उनके लोगों को पीटा गया। उन्हें वोट नहीं डालने दिया गया। अगर वो वोट डाल पाते तो बड़ी जीत होती।

पुलिस को देखते ही इनामी बदमाश ने शुरू की फायरिंग तो बन गया गोली का शिकार- देखें वीडियो

मोदी पर कसा तंज

यही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबको साथ लेकर चलने की बात पर भी आजम खान ने अपने अंदाज में कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि उन्हें अच्छी बात करने की आदत है, अगर प्रधानमंत्री की बात पर भरोसा नहीं करूंगा तो उसकी सजा पाऊंगा।

Video: मेरठ पहुंचा शहीद मेजर का शव, इस मंत्री ने परिजनों को दी सांत्‍वना

राम नाम से दिक्कत नहीं

आजम खान ने कहा है कि जय श्री राम के नारों से उन्हें कोई दिक्कत नहीं है। रामचंद्र से मुसलमानों का कोई विवाद नहीं है और न ही हो सकता है। हम किसी मजहब की तौहीन कर ही नहीं सकते, लेकिन जब पैगम्बर मोहम्मद साहब के लिए कोई बात आती है तो दुख होता है।

तेज रफ्तार के कहर ने लील ली 2 लोगों की जान, ट्रैक्टर में फंसा युवक

अक्सर देते हैं विवादित बयान

यहां बता दें कि आजम खान अपने विवादित बयानों के लिए चर्चा में रहते हैं। हाल ही में उन्होंने यह कहकर एक नया विवाद पैदा कर दिया था कि मदरसे नाथूराम गोडसे या प्रज्ञा सिंह ठाकुर जैसे लोगों को तैयार नहीं करते हैं। खान मदरसों को मुख्यधारा की शिक्षा से जोड़ने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की योजना पर प्रतिक्रिया दे रहे थे। वे रामपुर में भाजपा उम्मीदवार जया प्रदा को हराकर पहली बार संसद में पहुंचे हैं।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned