कांग्रेस चुनाव रणनीति बनाने में जुटी, 25 हजार बूथ कमेटी गठन का निर्णय

रवींद्र सिंह ने बताया कि पिछले दिनों संपन्न शहरी निकाय चुनाव में भी पार्टी ने एक बेहतर रणनीति के तहत प्रत्याशी दिए और आधा दर्जन सीटों पर जीत हासिल की, वहीं अधिकांश सीटों पर प्रतिद्वंदी प्रत्याशियों को टक्कर दी...

By: Prateek

Published: 07 Jan 2019, 04:04 PM IST

(रांची): छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद सत्ता में वापसी और राज्य के कोलेबिरा विधानसभा उपचुनाव में मिली जीत से कांग्रेस नेता-कार्यकर्ता खासे उत्साहित हैं और अब पार्टी इस वर्ष होने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है। एक ओर लोकसभा और विधानसभा में कांग्रेस ने समान विचारधारा वाले राजनीतिक दलों के साथ गठबंधन बनाकर चुनाव लड़ने का संकेत दिया है, वहीं पार्टी ने संगठनात्मक मजबूती के लिए झारखंड के सभी 25 हजार मतदान केंद्रों पर बूथ कमेटी बनाने का काम भी तेज कर दिया गया है।

 

शक्ति एप्प से जुटेंगे कार्यकर्ता

प्रदेश कांग्रेस में संगठन और मोर्चा-प्रकोष्ठ के प्रभारी के रूप में काम देख रहे रवींद्र सिंह ने रविवार को बताया कि पार्टी हर बूथ पर कम से कम पांच सदस्यों की एक कमेटी गठित करने के काम में जुटी है। उन्होंने बताया कि इस जनसंपर्क अभियान के तहत 100रुपया में बूथ कमेटी की सदस्यता दिलाकर कमेटी गठित की जा रही है। उन्होंने बताया कि बूथ कमेटी के सदस्य पार्टी के प्रोजेक्ट शक्ति एप्प से जुट जाएंगे।

 

 

रवींद्र सिंह ने बताया कि पिछले दिनों संपन्न शहरी निकाय चुनाव में भी पार्टी ने एक बेहतर रणनीति के तहत प्रत्याशी दिए और आधा दर्जन सीटों पर जीत हासिल की, वहीं अधिकांश सीटों पर प्रतिद्वंदी प्रत्याशियों को टक्कर दी। इसी तरह से कोलेबिरा विधानसभा उपचुनाव में भी कांग्रेस पहले नमन विक्सल कोंगाड़ी को उम्मीदवार बनाया, उसके बाद प्रदेश कांग्रेस से लेकर जिला, प्रखंड और पंचायत स्तर के कार्यकर्त्ताओं ने एकजुटता के साथ पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में काम किया, जिसका परिणाम है कि वर्ष 2014 में कांग्रेस उम्मीदवार को जहां 10-11 हजार वोट मिले, थे, वहीं इस चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी के मतों में 25 हजार से अधिक वोटों की वृद्धि हुई। उन्होंने कहा कि भाजपा भले ही मिस कॉल कर खुद को देश की सबसे बड़ी पार्टी घोषित कर अपनी पीठ थपथपाने का काम करें, लेकिन हकीकत यह है कि 134 साल पुरानी कांग्रेस पार्टी की जड़े आज भी पूरे देश में मजबूत है।

Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned