रांची में विरोध के बीच फ्लाईओवर के लिए मकान-दुकान तोड़ेे

रांची में विरोध के बीच फ्लाईओवर के लिए  मकान-दुकान तोड़ेे
encroachment demolished

| Publish: Jun, 04 2018 02:31:53 PM (IST) Ranchi, Jharkhand, India

रांची में फ्लाईओवर निर्माण को लेकर कांटाटोली चौक से कोकर चौक के बीच अधिगृहित भूमि में मकान-दुकान तोड़ने का अभियान चलाया गया

रांची। रांची में फ्लाईओवर निर्माण को लेकर कांटाटोली चौक से कोकर चौक के बीच अधिगृहित भूमि में मकान-दुकान तोड़ने का अभियान चलाया गया। अभियान का नेतृत्व अनुमंडल पदाधिकारी अंजलि यादव कर रही है। करीब एक दर्जन जेसीबी मशीनों से मकान-दुकान को तोड़ने का काम सुबह सात बजे से ही प्रारंभ हो गया है। स्थानीय रैयतों और लीजधारियों के विरोध के बीच कड़ी सुरक्षा के बीच दुकान और मकानों को तोड़ने का काम प्रारंभ किया गया है।

इस अभियान से दोनों तरफ वाहनों का आवागमन ठप्प हो गया है और छोटे-बड़े वाहन चालकों को वैकल्पिक मार्ग का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है और एहतियात के तौर पर कांटाटोली से कोकर जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया गया है। अनुमंडल पदाधिकारी अंजलि यादव ने बताया कि फ्लाईओवर निर्माण के लिए रैयतों और लीजधारियों को एक महीने पहले ही नोटिस जारी किया चुका था और पिछले दो दिनों से इलाके में प्रशासन की ओर से माइक से एनाउंसमेंट कर घर-दुकान से सामान को खुद ही हटा लेने की अपील की जा रही थी।

 

पुलिस बल रहा मौजूद


अधिगृहित भूमि से कब्जा हटाने के लिए बड़ी संख्या में मजिस्ट्रेट, पुलिसबल और पदाधिकारियों को प्रतिनियुक्त की गई है। जमीन कब्जा में लेने के दौरान किसी तरह का विरोध करनेवालों से सख्ती से निपटने की तैयारी है। इससे पहले शनिवार और रविवार को ही जुडको और नगर निगम की टीम ने गढ़ाटोली से कांटाटोली चौक होते हुए बहू बाजार तक एनाउंसमेंट की थी और लोगों से अधिगृहित जमीन से वे अपनी संरचना 24 घंटे के अंदर हटा लें, अन्यथा उसे निगम द्वारा बलपूर्वक तोड़ा जाएगा।

 

60 प्‍लाट अधिगृहित किए जाएंगे


जिला भू-अर्जन पदाधिकारी सीमा सिंह ने बताया कि कुल 60 प्लॉटों का अधिगृहित किया जाना है। इनमें से 42 प्लॉट खासमहल लीज से संबंधित हैं। 113 लोगों को संरचना का मुआवजा प्राप्त करने के लिए नोटिस दिया गया है। इस पर उपायुक्त ने निर्देश दिया है कि सभी रैयत आवश्यक कागजात के साथ भू-अर्जन कार्यालय में उपस्थित होकर जांच के बाद मुआवजा लें।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned