मंदी का असर: जिनकी नौकरियां गई उन्हें काम मिलेगा या नहीं, कोई बताने वाला नहीं

Financial Crisis India: देशव्यापी मंदी ( Financial Crisis In India ) से कोई अछूता नहीं रहा है, हजारों लोगों की नौकरियां ( Unemployment In India ) चली गई है, टाटा मोटर्स ( Tata Motors ) पर भी असर पड़ा, ब्लॉक क्लोजर ( Block Closure ) की वजह से...

By: Prateek

Published: 05 Sep 2019, 09:48 PM IST

(रांची): ऑटो सेक्टर ( Auto Sector ) में देशव्यापी मंदी से टाटा मोटर्स भी प्रभावित है। अगस्त महीने में चार बार ब्लाॅक क्लोजर के बाद कंपनी ने सितंबर महीने के भी पहले क्लोजर की घोषणा कर दी है। टाटा मोटर्स ( Tata Motors ) ने 6 और 7 सितंबर को ब्लाॅक क्लोजर की घोषणा की है, जबकि आठ सितंबर को रविवार रहने के कारण साप्ताहिक अवकाश रहेगा। बताया गया है कि क्लोजर के दौरान आधा वेतन कंपनी की ओर से और आधा कर्मचारियों की छुट्टी से एडजस्ट किया जाएगा।

 

टाटा मोटर्स में ब्लाॅक क्लोजर से आदित्यपुर क्षेत्र में मोटर-पार्टस बनाने वाली सैकड़ों छोटी-छोटी कंपनियां बंद हो गई है और हजार लोग बेरोजगार हुए है। बताया गया है कि इन कंपनियों को अधिकांश ऑर्डर टाटा मोटर्स से ही प्राप्त होता है, लेकिन मांग घट जाने से कंपनी ने उत्पादन कम कर दिया है, जिससे छोटी-छोटी कंपनियों को ऑर्डर नहीं मिल पा रहा है। आदित्यपुर क्षेत्र में एक छोटी कंपनी में काम करने वाले राकेश कुमार ने बताया कि टाटा स्टील के उत्पादन में लगातार कटौती की जा रही है, इस कारण उससे जुड़ी कंपनियों में काम बंद हो गए, जुलाई और अगस्त भी बीत गया और अब सितंबर-अक्टूबर में काम मिलेगा या नहीं, यह बताने वाला कोई नहीं है।

ऑटो सेक्टर के अलावा स्टील उद्योग में भी सुस्ती का असर क्षेत्र में देखा जा रहा है। टाटा स्टील, जेएसडब्ल्यू और आर्सेलर मित्तल जैसी बड़ी कंपनियों ने भी अपने उत्पादन में कटौती की है।

झारखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: पूर्व मंत्री बंधु तिर्की पर ACB का शिकंजा,करोड़ों के घोटाले मामले में गिरफ्तार

Narendra Modi
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned