मालगाड़ी बेपटरी: गनीमत थी कि सामने से नहीं आ रही थी दूसरी ट्रेन वरना...

मालगाड़ी बेपटरी: गनीमत थी कि सामने से नहीं आ रही थी दूसरी ट्रेन वरना...
मालगाड़ी बेपटरी: गनीमत थी कि सामने से नहीं आ रही थी दूसरी ट्रेन वरना...

Satyendra Porwal | Updated: 26 Aug 2019, 01:09:41 AM (IST) Ranchi, Ranchi, Jharkhand, India

जामताड़ा के कांसीटाड़ हॉल्ट के पास आठ डिब्बे पटरी से उतरे। 20 घंटे बाद फिर सुचारू हुआ रेल परिचालन, प्लेटफार्म पर चढ़ गए डिब्बे। नई दिल्ली-हावड़ा मुख्य रेल मार्ग पर हादसा।

(रांची). रेलवे में हाल्ट स्टेशन पर सामान्यत: सभी ट्रेनों का ठहराव नहीं होता, ऐसे में यहां रेलवे स्टेशन पर हमेशा भीड़ भी नहीं होती। कुछ ट्रेन ही ऐसे स्टेशनों पर ठहरती है। ऐसे में मालवाहक गाडिय़ां भी ऐसे स्टेशन पर कम ही रोकी जाती हैं। नई दिल्ली-हावड़ा मुख्य रेल मार्ग पर जामताड़ा के कांसीटाड़ हॉल्ट के पास शनिवार शाम यहां से गुजरी मालगाड़ी गति में यहां से गुजर रही थी और अचानक पटरी से उतरने का हादसा हो गया। वो तो गनीमत थी कि साथ वाले ट्रेक पर कोई यात्री गाड़ी नहीं आ रही थी वरना भीषण हादसा हो जाता। क्योंकि जैसे ही मालगाड़ी बेपटरी हुई उसके कई डिब्बे अप व कई डिब्बे डाउन ट्रेक पर गिर गए। जिस समय यह घटना घटी उस समय मालगाड़ी पूरी तरह खाली थी। तेज गति में होने के कारण मालगाड़ी के कई डिब्बे हाल्ट के प्लेटफार्म पर भी चढ़ गए। इससे यात्री शेड, बिजली खंम्भे और तार भी क्षतिग्रस्त हो गए। घटना की जानकारी मिलने पर विद्यासागर जामताड़ा के रेलवे अधिकारियों की टीम मौके पर पहुंची।

20 घंटे बाद फिर सुचारू हुआ रेल परिचालन
हावड़ा-दिल्ली मुख्य रेल मार्ग पर मालगाड़ी बेपटरी होने के 20 घंटे बाद परिचालन शुरू हो पाया। यहां जामताड़ा जिला अन्तर्गत कांसीटाड़ हॉल्ट पर शनिवार शाम मालगाड़ी के 8 से अधिक डिब्बे बेपटरी होने से रेल मार्ग पर ट्रेनों का परिचालन ठप रहा। इससे कई रेलगाडिय़ों का मार्ग बदलकर चलाया गया। आसनसोल रेल मंडल के डी.आर.एम. सुमितकुमार घटनास्थल पहुंचे और मरम्मत कार्य की निगरानी की।

रेल पटरी उखड़ी, आवागमन रहा ठप
जानकारी के अनुसार नई दिल्ली-हावड़ा मुख्य रेल मार्ग पर जामताड़ा के कांसीटाड़ हॉल्ट के पास शनिवार शाम डाउन लाइन में मालगाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इससे गाड़ी के सात-आठ डिब्बे पटरी से उतर गए थे। वहीं, दो डिब्बे पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। दुर्घटना के बाद अप और डाउन रेलमार्ग पर ट्रेनों का आवागमन ठप रहा और रेल पटरी उखड़ गई।

मैन लाइन की कई ट्रेनों को दिया गै्रंडकार्ड
आसनसोल रेलमंडल के कई अधिकारी मौके पर कैंप कर रहे थे। इस दौरान मैन लाइन की कई ट्रेनों को गै्रंडकार्ड सेक्शन धनबाद-गया होकर रवाना किया गया। वहीं मालगाड़ी के क्षतिग्रस्त डिब्बों को हटाकर पटरी मरम्मत कार्य तीव्र गति से पूरा किया गया, हालांकि इसमें भी 12 घंटे से अधिक समय लग गया। इस दौरान कई ट्रेनों का रूट बदला गया। इससे यात्रियों को लम्बे सफर से परेशानी उठानी पड़ी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned