पारा शिक्षकों ने मुख्यमंत्री को दिखाए काले झंडे, झड़प में कई पुलिस कर्मी व पदाधिकारी घायल, पत्रकारों को भी लगे डंडे

पूरे राज्य भर से राजधानी रांची में आए पारा शिक्षकों ने सरकारी कार्यक्रम को बाधा पहुंचाने की कोशिश की। साथ ही विधि व्यवस्था को अपने हाथ में लेकर पत्थरबाजी भी की...

By: Prateek

Published: 15 Nov 2018, 08:12 PM IST

(पत्रिका ब्यूरो,रांची): झारखंड राज्य स्थापना दिवस के मौके पर गुरूवार को राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में आयोजित मुख्य राजकीय समारोह के दौरान पारा शिक्षकों ने जमकर हंगामा किया। मुख्यमंत्री का भाषण समाप्त होने के कुछ ही मिनट पहले मुख्य मंच के ठीक सामने खड़े पारा शिक्षकों ने काले झंडे दिखाना शुरू कर दिया। जिसके बाद उपद्रवी पारा शिक्षकों को कार्यक्रम स्थल से बाहर करने की कोशिश की गई। पारा शिक्षकों और सुरक्षाकर्मियों के बीच झड़प में कई पुलिसकर्मी और पदाधिकारी घायल हो गए। जिसके बाद सुरक्षाकर्मियों द्वारा बल का प्रयोग किया गया। इस बल प्रयोग के दौरान कई मीडियाकर्मियों को भी गंभीर चोट आई।

 

राजकीय कार्यक्रम में हंगामा करने पर 216 पारा शिक्षक बर्खास्त

पूरे राज्य भर से राजधानी रांची में आए पारा शिक्षकों ने सरकारी कार्यक्रम को बाधा पहुंचाने की कोशिश की। साथ ही विधि व्यवस्था को अपने हाथ में लेकर पत्थरबाजी भी की। विधि व्यवस्था में लगे पुलिस प्रशासन के पदाधिकारियों, वरीय पुलिस अधीक्षक , सिटी पुलिस अधीक्षक एवं ड्यूटी पर तैनात पदाधिकारियों पर पारा शिक्षकों ने हमला किया जिससे कई पुलिसकर्मी और पदाधिकारी गंभीर रूप से जख्मी हुए।

 

पारा शिक्षकों द्वारा सरकारी कार्यक्रम में व्यवधान डालने, विधि व्यवस्था को तोड़ने एवं सरकारी लोगों पर हमला करने की घटना को बेहद अशोभनीय एवं गंभीर रूप से लेते हुए वीडियो रिकॉर्डिंग एवं कार्यक्रम स्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरा से लिए फुटेज एवं अन्य प्रमाणों के आधार पर 16 प्रखंड के कुल 216 पर शिक्षकों को बर्खास्त किया गया। साथ ही लगभग 600 पारा शिक्षकों को जिला प्रशासन द्वारा बनाई गई खेलगांव एवं रेड क्रॉस अस्थायी जेल में गिरफ़्तार कर रखा गया है।

 

जिन पर सीसीटीवी कैमरा एवं वीडियो रिकॉर्डिंग से मिले प्रमाण के आधार पर बर्खास्त करने की कारवाई चल रही है। अन्य जिलों के जिलाधिकारियों को भी यहां शामिल पारा शिक्षकों की सूची भेजी जा रही है जिसके आधार पर चिन्हित कर अनुशासनात्मक कारवाई की प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है। स्थापना दिवस एक राजकीय दिवस है जो सम्पूर्ण राजवसियो के लिए सम्मान एवं गौरव का दिन है ।


गौरतलब है कि राज्य के हजारों पारा शिक्षक पिछले कई दिनों से अपनी मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं। इस सिलसिले में पारा शिक्षकों ने सरकार को मांग नहीं माने जाने की सूरत में स्थापना दिवस कार्यक्रम में सीएम को काला झंडा दिखाने की चेतावनी दी थी। इस चेतावनी के तहत राज्य के हजारों पारा शिक्षक रांची में जमा हुए थे। कुछ पारा शिक्षक पुलिस की तमाम सुरक्षा के बावजूद कार्यक्रम स्थल पर पहुंच गए थे, इनमें से कुछ को पुलिस ने घसीटकर बाहर निकाल दिया था, जबकि कुछ पारा शिक्षक अंदर ही थे, जिन्होंने सीएम को काला झंडा दिखाया।

 

इससे पहले पुलिस ने पारा शिक्षकों के कार्यक्रम स्थल तक नहीं पहुंचने के लिए रांची पहुंचने पर ही गिरफ्तार कर लिया। पारा शिक्षकों के संघ का दावा है कि तकरीबन 15 हजार पारा शिक्षकों को गिरफ्तार कर मोरहाबादी मैदान में रखा गया। वहीं पुलिस पदाधिकारियों का दावा है कि लाठीचार्ज के विरोध में पारा शिक्षकों ने भी पुलिस पर पत्थर और बोतल से हमला बोल दिया। जिसके कारण बल प्रयोग करना पड़ा। इस घटना में कई पुलिसकर्मी घायल हो गए।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned